दीपक तिवारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी दलों की गोलबंदी पर करारा वार किया है. उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के पास मोदी को हटाने के अलावा कोई एजेंडा नहीं है. उन्होंने पूर्व में कांग्रेस के खिलाफ बने गठबंधन का जिक्र करते हुए कहा, ”मौजूदा विपक्ष दलों के गठबंधन की तुलना 1977 और 1989 में बने गठबंधन से करना ठीक नहीं होगा. 1977 में गठबंधन का एक मात्र उद्देश्य था लोकतंत्र को बचाना. जो इमरजेंसी की वजह से खतरे में थी. 1989 में बोफोर्स घोटाले को लेकर पूरा देश आहत था.”

स्वराज्य इंडिया को दिये गये इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा, ”आज के गठबंधन का उद्देश्य राष्ट्र हित में नहीं बल्कि अपना अस्तित्व बचाने और पावर पॉलिटिक्स के लिए है. उनके पास मोदी को हटाने के अलावा कोई एजेंडा नहीं है.” ध्यान रहे की कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने 2019 के लोकसभा चुनाव में एकजुट होने के लिए कई बैठकें की है. हालांकि अभी तक कोई अंतिम और ठोस निर्णय पर विपक्षी दल नहीं पहुंची है.