पीएम मोदी जहां भी जाते हैं वहां लोगों का दिल जीतने का हुनर रखते हैं। ऐसा ही खास आज हुआ है। मोदी ने इंदौर में दाऊदी बोहरा समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आप लोगों के बीच का व्यक्ति हूं और यही मानता हूं कि मैं खुद भी आपके समाज का महत्वपूर्ण हिस्सा हूं, या यूं कहें कि आप मेरे जीवन का अभिन्न अंग हैं।

मोदी इंदौर में धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से भी मिल। सैयदना साहब ने उन्हें जन्मदिन की अग्रिम बधाई भी दी। पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि ‘अशरा मुबारक’ के इस पवित्र अवसर पर आपने मुझे यहां आने का मौका दिया। उन्होंने कहा, उज्जैन कभी भूल नहीं सकता। मुझे सैय्यदाना साहब से मिलने का मौका मिला। उन्होंने मेरा हाथ चूमा वो स्पर्श आज भी मेरे साथ है।

पीएम मोदी ने इमान हुसैन को याद किया और कहा कि वे अमन और शांति के लिए शहीद हुए थे। शांति, सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है। अपने देश से अपनी मातृभूमि के प्रति सीख अपने प्रवचनों से देते रहे हैं।

उन्होंने महात्मा गांधी और सैयदना की मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि दोनों की मुलाकात एक सफर के दौरान हुई थी और तभी से वे अभिन्न साथी बन गए। दांडी यात्रा के दौरान महात्मा गांधी सैयदना साहब के घर सैफी विला में ठहरे थे। आजादी के बाद सैयदना साहब ने इस विला को देश को समर्पित कर दिया था। यहां मुझे अपनापन महसूस होता है।