नई दिल्ली। केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल को भी जल्द वस्तु एवं सेवा कर( जीएसटी) के दायरे में लाने की कवायद में जुटा है। इस पर केंद्र और राज्यों के बीच सहमति बनाने का काम चल रहा है।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार को इसके संकेत भी दिए। मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, ‘हम कोशिश कर रहे हैं कि पेट्रोल, डीजल और केरोसिन को भी जीएसटी के तहत लाया जाए। उम्मीद है कि जीएसटी काउंसिल में जल्द ही इस पर सहमति बनेगी।’

पेट्रोल की बढ़ती कीमत के सवाल पर प्रधान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में जब-जब कच्चा तेल महंगा होता है, तब-तब पेट्रोल के दामों में वृद्धि होती है। इसके अलावा राज्य सरकारें अपने अनुसार पेट्रोल की कीमत पर टैक्स लगाती हैं। इससे पहले पेट्रोलियम मंत्री प्रधान ने उज्जैन में विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकाल मंदिर में अभिषेक और पूजन किया। ईंधन बचत और पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देते हुए उन्होंने इंदौर में ‘सक्षम साइक्लोथोन’ में भी हिस्सा लिया।

इस साल इतनी बढ़ चुकी कीमतें-

1 जनवरी 2018 में दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 69.97 रुपए थी। वहीं 15 जनवरी 2018 को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 71.18 रुपए के स्तर पर पहुंच गई। इस हिसाब से 15 दिनों में पेट्रोल की कीमत में 1 रुपए 12 पैसे का इजाफा हो चुका है।