मुहूर्त को लेकर क्या कहते हैं वेदाचार्य
सभी बहनों के लिये बहुत ही प्रसन्नता की बात है कि इस रक्षाबंधन पर भद्रा नही है. इस बार बहने अपने समय के अनुसार व सुविधा के अनुसार भाइयों को दिनभर राखी बांध सकती हैं. अमृत मुहूर्त के समय राखी बांधना बहुत ही फलदायी माना जाता है.
– पं आचार्य बाबा कुंज बिहारी प्रसाद , ज्योतिषाचार्य, वेदाचार्य, समस्तीपुर जिला अंतर्गत हसनपुर
– रक्षाबंधन का मुहूर्त
– सुबह- 7:43 बजे से 9:18 बजे तक चर
– सुबह – 9:18 बजे से लेकर 10:53 बजे तक लाभ
– सुबह – 10:53 बजे से लेकर 12:28 बजे तक अमृत
– दोपहर- 2:03 बजे से लेकर 3:38 बजे तक शुभ
– सायं- 6:48 बजे से लेकर 8:13 बजे तक शुभ
– रात्रि- 8:13 बजे से लेकर 9:38 बजे तक अमृत
– रात्रि – 9:38 बजे से लेकर 11:03 बजे तक