बहरोड़ ब्यूरो NTV TIME मयंक शर्मा 
देर शाम आई तेज आंधी के बाद बाजार से घर जा रहा युवक आंधी से बचने के लिए कंटेनर के पास खड़ा होकर अपना बचाव कर रहा था कि तभी तेज हवा के झोंके से कंटेनर पलट गया और पास खड़ा युवक रामेस्वर उसके नीचे दब गया । मृतक रामेस्वर कल अपने गाँव गुंति से बहरोड़ सामान खरीदकर वापिस अपने गांव जा रहा था कि तभी तेज आंधी आने से वह अपना बचाव करने के लिए कंटेनर के पास खड़ा हो गया था । उसको नही पता था कि वह जिस कंटेनर को अपनी ढाल मान रहा था वही उसकी मौत बनकर आएगा । मृतक रामेस्वर जब देर रात तक घर नही पहुँचा तो उसकी परिजनों ने तलाश सूरु कर दी । आज सुबह जब रामेस्वर को ढूंढते हुए हाइवे पर आए तो उनको शक हुआ तो नजदीक जाकर देखा तो उसकी बाइक कंटेनर के नीचे दबी देखकर समझ आया कि रामेस्वर इसके नीचे दबा हुआ है । मामले की जानकारी बहरोड़ पुलिस को दी गई । मोके पर पहुंची पुलिस ने दो क्रेनों की सहायता से मृतक को बाहर निकलकर शाव कों मोर्चरी में रखवाया गया । गौरतलब रहे कि देर शाम को आये तूफान से लाखो रुपये का भारी नुकशान सहित दो लोगो की मौत हो गई थी ।
देश के कई इलाकों में बुधवार देर रात आए आंधी-तूफान ने तबाही मचा दी । नुकसान के अलावा राजस्थान और उत्तरप्रदेश के विभिन्न इलाकों में करीब 46 लोगों की मौत हो गई । जबकि काफी संख्या में लोग घायल हुए हैं। इस अंधड़ के चपेट में आने से बेजुवान मवेशी भी मारे गए हैं । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के जिलों में हुए नुकसान का आंकलन कर मुअावजा जारी करने के आदेश दिए हैं।
132 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आए तूफान ने हर तरफ दहशत मचा दी । कई जगह तो दिन में ही रात जैसा माहौल हो गया। कई शहरों में रोड लाइट जलानी पड़ी तो कहीं वाहनों को भी हैडलाइट जलाकर चलाया गया । इसके अलावा कई इलाकों में बारिश व ओले भी गिरे हैं । लोग घबराते हुए घरों से बाहर निकल आए। कहीं पेड़ गिरा तो कहीं कच्चे मकानों की छत ही उड़ गई । अंधड़ वाले इलाकों में बिजली भी गुल रही । मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को भी अंधड़ और बारिश होने की संभावना है । राजस्थान में आंधी-तूफान से हुई तबाही में करीब 20 लोगों की मौत हुई है और 100 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे है। राजस्थान के भरतपुर, धौलपुर, अल्वर और झुंझूनू जिले तूफान ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया। इसके कारण खेतों में कटी पड़ी गेंहूं की फसल को भी भारी नुकसान हुआ है।
वहीं आगरा मंडल में देर रात आए आंधी-तूफान ने ग्रामीण इलाकों में भारी तबाही मचाई। अब तक 24 लोगों के मारे जाने की सूचना है जबकि दर्जनों घायल हैं। कई मवेशी भी मारे गए हैं। पुलिस और जिला प्रशासन नुकसान की जानकारी लेने में जुटा है। यूपी में तूफान का सबसे ज्यादा असर खेरागढ़, फतेहाबाद, पिनाहट और अछनेरा में हुआ है।
आंधी-तूफान से हुई तबाही और मौतों पर शोक जताते हुए राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने जमन्दिन की पार्टी कैंसिल कर दी है। गहलोत ने ट्वीट कर तूफान की चपेट में आने से मरने वाले लोगों और उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।