ntv दीपक तिवारी

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद वहां सियासी हलचल बढ़ गई है। नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर विधानसभा को तुरंत भंग कर राज्य में फिर से चुनाव कराने की मांग की है। इसके साथ ही उमर ने आशंका जताई कि अब राज्य में बीजेपी सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त कर सकती है।

उमर ने ट्वीट किया है कि जम्मू-कश्मीर विधानसभा को तुरंत भंग किया जाए और जल्द से जल्द जब भी उचित हो नए सिरे से चुनाव कराए जाएं। पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि बीजेपी पर विश्वास नहीं किया जा सकता कि सरकार बनाने के लिए वह खरीद-फरोख्त नहीं करेगी।

दरअसल पूर्व उप-मुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता ने कथित तौर पर कहा था कि उनकी पार्टी ‘कुछ विचार कर रही है।’ गुप्ता ने मीडिया को बताया कि मुझे नहीं लगता कि निकट भविष्य में नई सरकार बनेगी। यहां अनिश्चितताएं हैं लेकिन हम कुछ सोच-विचार कर रहे हैं और लोगों को इस बारे में पता चल जाएगा।