मुंबई (चन्दू शर्मा)
साकीनाका आग मामले में बीएमसी की रिपोर्ट पेश ।
साकीनाका में फरसाण की दूकान में लगी आग में 12 लोगों की मौत हो गई थी।
साकीनाका आग प्रकरण मामले में बीएमसी की ओर से एक रिपोर्ट दायर की गई है। इस आग के मामले में दोषी पाए गये एल विभाग के स्वच्छता निरीक्षक जगदीश सावंत को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही अन्य अधिकारी प्रवीण वसावे, राहुल मारेकर, अमोलपाटील, विश्वनाथ पवार पर जांच की करने का आदेश बीएमसी कमिश्नर ने दिया है।

साकीनाका आग मामला- दुकान मालिक को पुलिस ने किया था गिरफ्तार ।

भानू फरसाण आग मामले की जांच करने के लिए उपायुक्त राम धस ने नेतृत्व में एक जांच समिति की स्थापना की गई थी। इस समिति ने अपनी रिपोर्ट बीएमसी कमिश्नर को दे दी है। जिस पर बीएमसी कमिश्नर ने आगे की कार्रवाई की है।

धस समिति के दिये गए रिपोर्ट के मुताबिक बीएमसी अधिकारी भानू फरसाण पर तोड़क कार्रवाई भी करने गए थे, लेकिन दुकान में ताला लगा देख वह वहां से वापस लौट गए। जिसके कारण इस आग की घटना घटी। पिछलें साल दिसंबर में भानू फरसाण दुकान में आग लगने के 12 लोगों की मौत हो थी। बीएमसी रिपोर्ट में आग का कारण शॉट सर्किट बताया गया है।