अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस : गुलाब जायसवाल
भारतीय रेलवे में लापरवाही की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रहीं। ताजा मामला ओडिशा के तीतलागढ़ स्टेशन का है, जहां सवारियों से भरी अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस ट्रेन बिना इंजन के ही पटरी पर दौड़ पड़ी।

करीब 10 किलोमीटर दूर जाकर ट्रेन को किसी तरह से रोका गया और फिर इंजन भेजकर दोबारा स्टेशन पर लाने के बाद आगे के लिए रवाना किया गया। इस दौरान पटरी पर यदि कोई दूसरी ट्रेन आ रही होती तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस को संबलपुर रेलवे डिविजन के इस स्टेशन पर रोककर दूसरी दिशा में ले जाने के लिए इंजन का छोर बदला जाता है। शनिवार रात करीब 10 बजे जब इंजन को एकतरफ से हटाकर ट्रेन के दूसरे सिरे पर जोड़ने के लिए ले जाने की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान कर्मचारी डिब्बों के ब्रेक लगाना भूल गए।

 तीतलागढ़ से केसिंगा की तरफ इस रेल पटरी में ढलान होने के कारण सभी डिब्बे बिना इंजन के ही दौड़ पड़े। करीब 10 किलोमीटर तक ये डिब्बे पटरी पर दौड़ते रहे। इसके बाद एक हॉल्ट पर अलर्ट स्टाफ ने किसी तरह डिब्बों के आगे छोटे पत्थर आदि डालकर ट्रेन को रोका और सुरक्षित लाइन पर ले गए।  निलंबित हुआ पूरा स्टाफ ईस्ट कोस्ट रेलवे के प्रवक्ता के अनुसार, इंजन शंटिंग प्रक्रिया के नियमों का पालन नहीं करने के लिए मौके पर मौजूद रेलवे स्टाफ को निलंबित कर दिया गया है। और संबलपुर डिविजिन के रेलवे मैनेजर जयदीप गुप्ता ने घटना की वरिष्ठ अधिकारी से जांच कराने के आदेश दिए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि इस घटना के बाद तीतलागढ़ से इंजन भेजकर ट्रेन को दोबारा स्टेशन पर वापस लाया गया और इसके बाद आगे रवाना किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here