◼️श्रमदान कर नदी में पड़ी गणेश प्रतिमा को हटाया गया
◼️नाले के पानी से सरयू हो रही प्रदूषित और जहरीली
ब्यूरो रिपोर्ट मोहम्मद फिरोज
बहराइच। सरयू बचाओ संघर्ष समिति के आह्वाहन पर आज प्रातः सरयू नदी झिंगहा घाट पर सफाई हेतु श्रमदान किया गया जिसमें समिति के पदाधिकारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। आज प्रातः 7 बजे से शुरू नदी की सफाई अभियान में सरयू में विसर्जित पड़ी गणेश प्रतिमा को नदी की बीच धारा में जाकर उन्हें किनारे लगाया गया। पिछले दिनों सरयू नदी में गणेश प्रतिमा विसर्जन के बाद से अभी भी प्रतिमाएँ नदी में पड़ी हुई हैं उन्हें हटाने के लिए नगर पालिका प्रशासन ने कोई कदम नही उठाए हैं। पालिका प्रशासन एकदम नाकारा साबित हुआ है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना कर रहा है। सरयू बचाओ संघर्ष समिति  के प्रवक्ता सचिन श्रीवास्तव ने बताया कि समिति के अध्यक्ष राकेश चन्द्र श्रीवास्तव के नेतृत्त्व में 72वें चरण में नदी की सफाई हेतु श्रमदान किया गया। उन्होंने बताया कि नगर पालिका क्षेत्र में आने वाले नालों से गंदा और मलमूत्र का पानी सरयू नदी में गिराया जा रहा है जिससे निरन्तर सफाई के बाद भी सरयू मैली और जहरीली हो रही है। श्री सचिन ने जिलाधिकारी से सरयू नदी की सफाई और नदी में पड़ी विसर्जित प्रतिमा को निकालकर नदी को स्वच्छ बनाने की माँग की है वहीं समिति के अध्यक्ष राकेश चन्द्र श्रीवास्तव ने जिलाधिकारी से गंगा संरक्षण समिति की बैठक तत्काल बुलाकर नदी की सफाई की मांग की है। नदी की सफाई में आज समिति के महामन्त्री पारस नाथ यादव , मोहम्मद सलीम, अजय शुक्ला हनुमान, हमीद शाह, सुलेमान खां, दिनेश मिश्रा, हरमेश यादव,निरंकार यादव,भगवानदास लखमानी,पंकज केवट,मंगल केवट, महंत वीरभद्रदास, ननकू लोधी, कन्हई लोधी, मोहम्मद अरमान, वेदान्त श्रीवास्तव सहित दर्जनों सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here