मेरे पिता की हत्या हुई है। इसे कुल्हाड़ी से वार कर मारा है। पुलिस इसे एक्सीडेंट बता रही है। पुलिस से ही न्याय नही मिल रहा है तो क्या करें

टीकमगढ़़-: मेरे पिता की हत्या हुई है। इसे लोगों कुल्हाड़ी से वार कर मारा है। पुलिस इसे एक्सीडेंट बता रही है। जब पुलिस से ही न्याय नही मिल रहा है तो हम क्या करें, किससे न्याय की उम्मीद करें। अस्पताल चौराहे पर अपने पिता का शव रख कर उसका पुत्र यह वेदना प्रकट कर रहा था। लगभग आधा घंटे लगे जाम के बाद मौके पर पहुंची पुलिस की समझाईश के बाद ही परिजनों ने जाम हटाया।
जतारा थाने के ग्राम उदयपुरा निवासी काशीराम पुत्र जगोले कुशवाहा 53 वर्ष की जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। काशीराम की मौत से नाराज उसके पुत्र मकुंदी ने अपने भाई एवं मां को साथ लेकर अस्पताल चौराहे पर जाम लगा दिया। यह लोग स्टे्रचर पर अपने पिता का शव रखे हुए थे। मृतक काशीराम के दोनों पुत्रों की आंखों में नाराजगी साफ दिखाई दे रही थी। वहीं उसकी पत्नि का सड़क पर रो-रो कर बुरा हाल था।

मेरे पिता की हत्या हुई है:

मृतक काशीराम के पुत्र मकुंदी ने बताया कि उन लोगों की गांव के ही तुलाराम प्रजापति के साथ पुरानी रंजीश चलती है। तुलाराम पहले भी उन लोगों के साथ मारपीट कर चुका है। तुलाराम ने कुछ समय पहले उसे वाहन चढ़ाकर मारने का भी प्रयास किया था। इसकी शिकायत भी थाने में दर्ज कराई थी।

मकुंदी ने बताया

मकुंदी ने बताया कि बुधवार की सुबह 8 बजे के लगभग जब उसके पिता गांव में ही निकले तो तुलाराम, घनेन्द्र प्रजापति और शोभा प्रजापति ने उसके साथ मारपीट कर दी। इन लोगों ने काशीराम पर कुल्हाड़ी और लाठियों से हमला कर दिया। इस घटना में वह गंभीर रूप से घायल हो गए। गंभीर अवस्था में उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जतारा में भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। यहां पर इलाज के दौरान काशीराम की मौत हो गई।

पुलिस पर लगाए आरोप:

इस घटना से आहत मकुंदी और उसके भाई का आरोप था कि मामले में जतारा पुलिस सही कार्रवाई नही कर रही है। मकुंदी का आरोप था कि उसके पिता की उक्त लोगों ने हत्या की है। जबकि जतारा पुलिस इस मामले में एक्सीडेंट का मामला दर्ज कर रही है। परिजनों का आरोप था कि पुलिस मामले को रफादफा करने का प्रयास कर रही है। परिजन आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here