हेमाराम गोदारा जयपुर|(मयंक जोशी)
राज्य सरकार ने आदेश जारी कर राज्य में समर्थन मूल्य पर विभिन्न कृषि जिंसोंकी खरीद के सुचारू रूप से क्रियान्वयनके लिए चार समितियाें का गठन किया है।
•राज्य स्तरीय स्टेयरिंग समित
आदेश में बताया गया हैमुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित 12 सदस्यीय राज्य स्तरीयस्टेयरिंग समिति में महानिदेशक, (पुलिस), अतिरिक्त मुख्य सचिव,(वित्त), अतिरिक्त मुख्य सचिव, (कृषि), प्रमुख शासन सचिव (सहकारिता), शासन सचिव, (खाद्य), रजिस्ट्रार (सहकारी समितियां), प्रबंध संचालक, (आरएसडब्लूसी), शाखा प्रबंधक (नेफेड) प्रबंध संचालक, (राजस्थान राज्य सहकारी बैंक) क्षेत्रीय प्रबंधक, (सीडब्लूसी), को सदस्य एवं प्रबंध संचालक, राजस्थान राज्य क्रय विक्रय सहकारी संघ (राजफैड) को सदस्य सचिव बनाया गया है।
•राज्य स्तरीय समन्वय समित
रजिस्ट्रार एवं प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने बताया कि समर्थन मूल्य पर कृषि जिन्सों की खरीद में आने वाली प्रतिदिन की समस्याओं के निस्तारण एवं निगरानी के लिए राज्य स्तरीय समन्वय समिति का गठन किया गया है।
उन्होंने बताया कि अतिरिक्त मुख्य सचिव, (कृषि) की अध्यक्षता में 14 सदस्यीय समिति में प्रमुख शासन सचिव (सहकारिता), पुलिस महानिरीक्षक, (लॉ एण्ड आर्डर), शासन सचिव, (खाद्य), प्रबंध संचालक (राजफैड), अतिरिक्त रजिस्ट्रार (द्वितीय),सहकारी समितियां, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (मार्केटिंग), सहकारी समितियां, प्रबंध संचालक, (राजस्थान राज्य सहकारी बैंक), अतिरिक्त निदेशक, (कृषि), अधिशाषी निदेशक, (आरएसडब्लूसी), शाखा प्रबंधक (नेफेड), महाप्रबंधक(वित्त), राजफैड को सदस्य एवं महाप्रबंधक (वाणिज्य), राजफैड को सदस्य सचिव बनाया गया है।
 
•जिला स्तरीय समन्वय एवं निगरानी समित
श्री कुमार ने बताया कि जिला स्तर पर समर्थन मूल्य पर खरीद में आने वाली समस्याओं के सुगम निराकरण के लिए जिला स्तरीय समन्वय एवं निगरानी समिति का गठन किया गया है। जिला स्तर पर गठित समन्वय एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष संबंधित जिला कलेक्टर होंगे एवं संबंधित जिला पुलिस अधीक्षक, संबंधित जिला रसद अधिकारी एवं इनके साथ ही अतिरिक्त रजिस्ट्रार, सहकारी समितियां एवं पदेन प्रभारी अधिकारी क्षेत्रीय अधिकारी, राजफैड, निकटस्थ क्रय विक्रय सहकारी समिति का एक प्रतिनिधि, उप निदेशक कृषि, आरएसडब्लूसी/सीडब्लूसी के प्रतिनिधि सदस्य बनाये गये है एवं उपरजिस्ट्रार सहकारी समिति को सदस्य सचिव मनोनित किया गया है।
•खरीद केन्द्र समन्वय एवं निगरानी समित
श्री अभय कुमार ने बताया कि समर्थन मूल्य पर खरीद के समय अक्सर देखने में आया है कि खरीद केन्द्र पर भी समस्या उत्पन्न हो जाती है ऎसी समस्याओं के सुगम निराकरण हेतु संबंधित उपखण्ड अधिकारी की अध्यक्षता में खरीद केन्द्र समन्वय एवं निगरानी समिति का गठन किया गया है जिसमें जिला रसद अधिकारी, संबंधित उप पुलिस अधीक्षक/थाना प्रभारी, उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियां, आरएसडब्लूसी/सीडब्लूसी के प्रतिनिधियों, व सचिव, कृषि उपज मण्डी समिति को सदस्य नियुक्त किया गया है व क्रय विक्रय सहकारी समिति/खरीद केन्द्र के व्यवस्थापक को सदस्य सचिव के रूप में शामिल किया गया है।
उन्होंने बताया कि समर्थन मूल्य पर सरकारी केन्द्रों पर सुलभता से खरीद हो इसके लिए गठित समितियों का प्रशासनिक विभाग सहकारिता विभाग होगा। किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिले व किसी तरह की पेरशानी नहीं हो। इसके लिए इन सभी समितियों का गठन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here