कानपुर
बिल्हौरl प्रदेश सरकार ने 31 अक्टूबर तक प्रदेश के सभी सम्पर्क मार्गो को गड्ढामुक्त करने का आदेश दिया था जो मात्र कागजो पर ही सिमित रह गया है बिल्हौर तहसील के ग्राम नानामऊ के ग्राम प्रधान संदीप कुमार ने नही कराया कोई विकास। 2 दो करोड़ हुए पास।  इस सम्बंध मे ग्रामीणो ने ग्राम प्रधान से लेकर सांसद तक शिकायत दर्ज करा चुके है लेकिन आज तक किसी जनप्रतिनिधि ने सक्रियता नही दिखाया जिसके कारण नानामऊ ग्राम में 600 मीटर का मार्ग अधूरा पड़ा है। इस मार्ग से ग्रामीणो के अतिरिक्त कोई जनप्रतिनिधि यात्रा नही करता है जिससे ग्रामीणो के दर्द को भली भॉंति एहसास कर सके ।
जिससे कारण ग्रामीणों को बड़ी समस्याओ का सामना करना पड़ता है। सड़क कहना गलत होगा जिसमे  गड्ढे ही गड्ढ़े है सड़क का नाम देना गलत ही होगा। बताते चले माननीय विधायक भागवती प्रसाद सागर कुछ दिन पूर्व इस ग्रामसभा में आए थे लेकिन इस समस्या को कोई ध्यान नही दिया यह मार्ग खड़ंजा युक्त था लेकिन अब यह गड्ढ़ा युक्त है
इसी क्रम मे बताते चले कि इस ग्राम सभा नानामऊ में 5गाँव सम्मलित है सभी गाँव मे नाली, खड़ंजा नवनिर्माण हो चुका है लेकिन नानामऊ गांव में जो भी खडंजे नवनिर्माण हो रहा है वो कई महीनो से अधूरे पड़े है ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम प्रधान के द्वार जो भी विकाश कार्य हुआ है वो अभी तक पूणर्तः नही हुआ है नालिया कचड़े से भरी हुई है पानी सड़को पे बह रहा है शौचालय अधूरे पड़े है   ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान से कई बार कहा प्रधान इनकी समस्या को अंसुनी कर रहा है आखिरकार ये खडंजे  क्यों अपेक्षित है ? ग्रामीणों का कहना है कि नानामऊ के विकास के लिए 2 करोड़ बजट पास हुआ विकाश का मुद्रा कहाँ गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here