पुलिस प्रशासन की कार्यवाही पर जताया असन्तोष , पुलिस अधीक्षक के उपर आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक को बताया बीजेपी का एजेंट…*
कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कांग्रेस पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष राकेश तिवारी के साथ अन्य पदाधिकारी नृपेंद्र सिंह , वसीम राजा(कार्यकारी अध्यक्ष) , गुस्ताख खान(प्रदेश समन्यवयक) , अशफाक खान(प्रदेश समन्यवयक अल्पसंख्यक कांग्रेस) , मो.रफीक अंसारी (जिलाध्यक्ष) ,डॉ. अजीत पाण्डेय ,घनेन्द्र सिंह आदि लोगो ने अपनी बातों में कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता में कार्यवाही के नाम पर भय पैदा करने के लिए जिला पुलिस प्रशासन विशेष तौर पर काम कर रहा है।
पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा आचार संहिता के दौरान चिन्हित लोगों के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है पुलिस प्रशासन द्वारा की जा रही कार्यवाही से यह स्पष्ट दिख रहा है कि इनका उद्देश बीजेपी पार्टी को लाभ पहुंचाना है। पुलिस अधिकारियों द्वारा कार्यवाही के नाम पर लोगों के मन में भय पैदा किया जा रहा है , जिससे लोग कांग्रेस पार्टी के लिए खुलकर प्रचार-प्रसार ना कर सके प्रशासन की कार्यवाई भाजपा सरकार की चाल चरित्र और चेहरा को परिलक्षित करती है।
अपनी बातों में कांग्रेस नेताओं ने आगे आरोप लगाते हुए कहा है कि , वर्तमान पुलिस अधीक्षक रीवा के रहते पूरे जिले में निष्पक्ष चुनाव की कल्पना नहीं की जा सकती , रीवा पुलिस अधीक्षक पूरी तरह मंत्री के इसारे में भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। अभी दो दिन पूर्व रीवा पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही इसका उदाहरण है , क्योंकि इनके द्वारा कुछ ऐसे लोगों को अपराधी बता कर बंद किया गया जो चुनाव के दौरान अशांती फैलाएँगे , कांग्रेस पार्टी के सभी पदाधिकारी जिला पुलिस प्रशासन और पुलिस अधीक्षक से यह पूछना चाहते हैं कि यही लोग कुछ माह पूर्व तक मंत्री जी के साथ थे तब क्या ये अपराधी नहीं थे ? और आज जब कांग्रेस पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर कांग्रेस पार्टी के लिए कार्य करने लगे हैं तो आज यह पुलिस अधिकारियों की नज़रों में अपराधी हो गए । यह कैसा लोकतंत्र है?
अपनी बातों में आगे बताया है कि भाजपा को हार का डर चुनाव के पूर्व ही सताने लगा है इसलिए अधिकारियों द्वारा भाजपा के इशारे पर अलोकतांत्रिक कार्यवाही की जा रही है ।
प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से चुनाव आयोग से कांग्रेस पार्टी द्वारा अपील की गई है कि पुलिस अधीक्षक रीवा को तत्काल रीवा से हटाया जाए ताकि रीवा जिले में लोकतंत्र की बहाली हो और निष्पक्ष चुनाव संभव हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here