सतना – खास खबर चुनावी है*
कहते है राजनीति में कोई किसी का नहीं होता ,
एक थाली में भोजन करने वाले भी कब एक दूसरे के  आमने सामने हो जाए कोई ठिकाना नहीं ,
यह बात लोगों से सुनी थी, और  राजनैतिक इतिहास भी शायद यही कहता है ,
बात करे सतना जिला पंचायत उपाध्यक्ष और भाजपा पार्टी की सक्रिय व संघर्षशील  कार्यकर्ता रही  *डॉक्टर रश्मि सिंह* की ,
जो सतना जिले मे एक मामूली पद मे रहकर भी पार्टी को काफी उंचाईयो तक ले गई, व अपनी जमीन तैयार की ,
उन्होने मीडिया को बताया कि •••
वे जिला पंचायत में अध्यक्ष पद की दावेदार थी , समर्थन भी उनके पक्ष में था ,  किंतु उन्हें पौधे कर दिया गया था  , और उन्होने अध्यक्ष का पद छोड़कर उपाध्यक्ष बनना स्वीकार किया था ,
बडी बात यह कि •••
नागौद विधान सभा क्षेत्र में उन्होंने बडी मेहनत कर एक जनमत तैयार की थी कि- विधानसभा चुनाव में भाजपा पार्टी टिकट देगी , और जनता उनके फेवर मे सपोर्ट करेगी,  लेकिन ऐन वक्त पर पार्टी ने इन्हे टिकट ना देकर  राजघराने के नागेंद्र सिंह को तवज्जो दे दिया,
लेकिन युवा नेत्री *डॉ• रश्मि सिंह*  भी पीछे हटने वाली नहीं थी , उन्होने जनता की भावनाओ को सिरेधार्य कर पार्टी से निकलकर  निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बनाया, व निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोक कर अब वो विधान सभा क्षेत्र नागौद  से चुनाव  मैदान में है ,
नागौद क्षेत्र में इस बात की काफी जोरो से  चर्चा है की रश्मि सिंह  के बागी होकर चुनाव लड़ने से बिटलू हजूर की धड़कनें तेज हो गई है ,
अब चुनावी परिणाम क्या आएगा यह तो जनता के मतदान व भविष्य के हाथ में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here