Image result for pic of depressed girlहेल्थ सावधान : सोशल मीडिया पर ज्यादा ऐक्टिव रहने वाली किशोरियों को अवसाद का खतरा दोगुना
ntv time deepak tiwariJanuary
सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने वालों के लिए यह खबर खास है। एक शोध में दावा किया गया है कि सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा समय बिताने वाली किशोरियों को अवसाद होने का खतरा दोगुना रहता है। वहीं उनके हम उम्र लड़कों को असवाद कम प्रभावित करता है। एक नये अध्ययन में ऐसा दावा शोधकर्ताओं ने किया है। यह अपनी तरह का पहला अध्ययन शोध है। अपनी तरह के पहले इस अध्ययन में सोशल मीडिया एवं अवसाद के लक्षणों के बीच संबंध देखा गया।
सोशल मीडिया का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करती हैं किशोरियां
ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन (यूसीएल) के शोधकर्ताओं ने करीब 11,000 युवाओं से प्राप्त डेटा का विश्लेषण किया और पाया कि 14 साल की किशोरियां सोशल मीडिया का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करती हैं। उनमें हर पांच में से दो किशोरियां सोशल मीडिया का हर पांच में से एक किशोर के मुकाबले प्रतिदिन तीन घंटे ज्यादा इस्तेमाल करती हैं। वहीं 10 प्रतिशत लड़कों के मुकाबले केवल चार प्रतिशत लड़कियां ऐसी पाई गईं जो सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करती।
अध्ययन के परिणामों में पाया गया कि सोशल मीडिया का मामूली इस्तेमाल करने वाली 12 प्रतिशत और अधिक इस्तेमाल (प्रतिदिन पांच या उससे ज्यादा घंटे) करने वाली 38 प्रतिशत लड़कियों में गंभीर स्तर के अवसाद के लक्षण देखे गए। यूसीएल के एक प्रोफेसर वोन्ने केली ने बताया, ‘लड़कों की तुलना में लड़कियों में सोशल मीडिया के प्रयोग और अवसाद के लक्षणों के बीच संबंध ज्यादा मजबूत देखा गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here