Image result for pic of ram rahim

Ntv time deepak tiwari
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में पंचकूला अदालत ने फैसला सुना दिया है। इस मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम आरोपी था जिसे कोर्ट ने दोषी माना है। राम रहीम इस समय अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है। फैसले को देखते हुए हरियाणा और पंजाब के कई क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पंचकूला में सीबीआई कोर्ट ने मामले में राम रहीम समेत सभी 4 को दोषी करार दिया है।सजा 17 जनवरी को सुनाई जाएगी।
हरियाणा में, विशेषकर पंचकूला, सिरसा (डेरा मुख्यालय) और रोहतक जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। यहां कानून व्यवस्था से जुड़ी किसी भी स्थिति से निपटने के लिये राज्य सशस्त्र पुलिस की कई कंपनियों, दंगा विरोधी पुलिस और कमांडो बल को तैनात किया जा रहा है।
पंचकूला के डीसीपी कमलदीप गोयल ने सीबीआई की विशेष अदालत के निकट सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कहा, ‘भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कोर्ट परिसर के आसपास लगभग 500 कर्मी तैनात किए गए हैं। बैरिकेडिंग भी की गई है।’
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम पर फैसला आने के चलते सुरक्षा इंतजामों के बारे में बात करते हुए रोहतक रेंज के आईजी संदीप खीरवार ने बताया, ‘हमने जेल के आसपास 2 टियर में सुरक्षा के इंतेजाम किए हैं, 500 जवान और हवाई ड्रोन भी लगाए गए हैं। हम किसी तरह की भीड़ नहीं जुटने देंगे और लोगों से अपील की है कि वे भी शांति बनाए रखें।’
हरियाणा के सभी जिलों की पुलिस को लोगों को गैरजरूरी रूप से जमा होने से रोकने और अतिरिक्त निगरानी रखने के निर्देश दिये गए हैं। उन्होंने कहा कि कई इलाकों में नाकेबंदी भी की गई है।पुलिस ने कहा कि सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय के नजदीक अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। अगस्त 2017 में राम रहीम को सजा सुनाए जाने के दौरान हरियाणा के सिरसा और पंचकूला में हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here