Image result for pic of ntvtimeडॉ पद्ममभानु प्रताप सिंह  ने कहा इस पैथी में गॉलब्लेडर एवं किडनी स्टोन बड़ी ही आसानी से निकला जाता है ।
विजय कुमार शर्मा प,च,बिहार
बगहा इलेक्ट्रो होम्योपैथी के जनक डॉ काउंट सीजर का 210 वाँ जयंती बगहा के बन बिकाश भारती होमियो सेवा हॉस्पिटल
 में मनाया गया जिसमें डॉ पद्ममभानु प्रताप सिंह ने  बताया कि सन 1855 में डॉ सीजर के पालतू कुत्ता के शरीर मे घाव हो गया वे उस घाव का इलाज बहुत ही  कराया मगर लाभ न मिला,तो उसे वो जंजीर मुक्त कर दिया।कुछ दिन बाद उसने देखा कि कुत्ता एक विशेष प्रकार के पौधे को चबाता था एवं उसी पर लेटता था।धीरे धीरे उसका घाव ठिक होता गया। इसी से प्रभावित होकर डॉ मैटी ने  अनेको चिकित्सा शास्त्रों का अध्ययन किया तथा पाया कि वनपत्ति जगत में चमत्कारी औषधि का भंडारण है।। इस पैथी में आसानी से  किडनी और गॉलब्लैडर का स्टोन गाला कर निकाला जाता है एवं कैंसर तथा एड्स जैसा घातक बीमारी का दवा मैजूद है,इस पैथी का औषधि का शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नही पड़ाता है तथा जड़ से समाप्त होत है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here