दिवाकर पांडेय

लाल कपड़े में लपेटकर दुगुना तिगुना करने का झांसा देकर ऐंठता था लोगों से रुपये।
लखनऊ के रहने वाले मनोज सिंह की तहरीर पर एसएसपी ने मुकदमा दर्ज करने का दिया था आदेश।
मामले की छानबीन करते हुए जिले की क्राइम ब्रांच टीम के साथ नवागत थाना प्रभारी शमशेर सिंह ने किया गिरफ्तार।
मवई(फैजाबाद)झांसा देकर ढेड़ करोड़ की ठगी करने वाला मुन्ना सिंह उर्फ तांत्रिक बाबा सहित दो अन्य को आखिर जेल की सलाखों के पीछे जाना ही पड़ा।इसे मवई पुलिस ने उसके गांव के समीप से गिरफ्तार किया है।मुखविर की सटीक सूचना पर जिले की क्राइम ब्रांच टीम के साथ पहुंचे नवागत थाना प्रभारी शमशेर सिंह ने ये सफलता हासिल की।विनयखंड गोमतीनगर लखनऊ निवासी ठगी का शिकार पीड़ित मनोज सिंह ने बताया कि उसके यहां पिकप चलाने वाला एक ड्राइवर था।जिसका नाम राजू सिंह उर्फ सोमनाथ ग्राम जानमती बेड़ा हैदरगढ़ का निवासी था।गाड़ी चलाते समय ड्राइवर राजू अपने भाई को कैंसर पीडित बताकर धीरे धीरे 4 लाख छियानवे हजार रुपये नगद उधार लिये।मांगने पर उसने कई बार मवई थाना क्षेत्र के  हंसराजपुर गांव निवासी अपने मामा से मिलने को कहा।पीड़ित ने बताया कि जब ड्राइवर के भाइयों के साथ वो हँसराजपुर गांव गया तो पता चला कि बाबा अपने तंत्र विद्या से मानसिक और आर्थिक समस्या का समाधान करते है।उन लोगो ने वही पर रात रुकने के लिए कहा और कहा कि सुबह पैसे ले जाना।बताया कि रात में तंत्र विद्या द्वारा हथेली रगड़ कर पांच सौ नोट से पचास हजार की गड्डी निकाला और कहा कि इसे लाल कपड़े में लपेटकर आलमारी में रखना।और उसके बाद रात में एक बैग लेकर आए और कहा कि इसमें रुपया भरा हुआ है इसे सिर के नीचे रखकर सो जाओ।और जब सुबह हुई तो कहा कि इस बैग में नापाकी हो गई है।पीड़ित का ये भी है आरोप है कि तांत्रिक बाबा मुन्ना सिंह और उनके लड़के ने कहा कि 5 लाख रुपया और दो तब 24 घंटे में अंदर चार गुना कर अपना बैग ले जाओ।उसके बाद पीड़ित बाबा और उनके पुत्रों दिलीप सिंह,लाखन सिंह,मलखान सिंह,तुनई के बहकावे में आकर फंसता गया और ऐसे ही धीरे धीरे उधार ,ब्याज और अपने खाते से निकलकर 1 करोड़ 54 लाख रुपए दे दिया जब कहा कि 11 लाख रुपये और दो तब उसे ठगी का एहसास हुआ। पीड़ित मनोज सिंह ने मामले की लिखित तहरीर एसएसपी फैजाबाद को देते हुए पुलिस को इन सभी करतूतों की रिकार्डिंग और वीडियो भी सौपी है।इस मामले में एसएसपी के निर्देश पर मवई पुलिस ने 30 जनवरी 2018 को ही धारा 419,420,406,506 आईपीसी के तहत की थी।मवई थाना प्रभारी शमशेर बहादुर सिंह ने बताया कि मामले की जांच क्राइम ब्रांच द्वारा की जा रही है।मुकदमा दर्ज किया गया है और ठग के सात आरोपी में से मुख्य आरोपी मुन्ना सिंह उर्फ तांत्रिक बाबा और उनके दो पुत्रों लाखन सिंह व मलखान सिंह को शुक्रवार को उनके गांव के समीप से गिरफ्तार किया गया है जिन्हें शनिवार को जेल भेज दिया गया है।शेष फरार चल रहे चार अन्य आरोपियों की भी शीघ्र ही गिरफ्तारी हो जाएगी।
दशकों से चल रहा था तांत्रिक बाबा का ये षडयंत्र खेल।
मवई थाना क्षेत्र के हंसराजपुर के रहने वाले मुन्ना सिंह उर्फ तांत्रिक बाबा ठग का ये षडयंत्र जाल दशकों से चल रहा था।आस पास गांवो नही बाराबंकी लखनऊ सहित अन्य जिलों के लोग इनके झांसे में आकर करोडों रुपये गवां चुके है।जो इस कथित तांत्रिक बाबा के झांसे में आया वो फंस गया।
वर्ष 2015-16 में भी सीओ संतोष ने शुरू की थी बाबा की तलाश।
इस तथाकथित तांत्रिक बाबा की जाल में फंसे कुछ पीड़ितों ने वर्ष 2015-16 में मवई थाना प्रभारी रहे राजीव सिंह व सीओ रहे संतोष सिंह प्रथम के समक्ष पेश होकर तहरीर दी थी।जिस पर जांच करते हुए सीओ ने स्वयं इस बाबा को पकड़ने के लिये छापेमारी शुरू की थी।लेकिन तांत्रिक बाबा अपने साथियों के साथ फरार हो गया।उसके बाद दोनों अधिकारियों का तबादला होने के बाद ये मामला ठंडे बस्ते में चला गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here