छपरा सारण जिले के डेरनी थाना अंतर्गत खिरिकिया गांव में आज कीटनाशक मिश्रित चाय पीने से दादी-पोता सहित कुल तीन लोगों की मौत हो गयी। जबकि एक बच्चे की स्थिति गंभीर बनी हुई है।जिसका इलाज पीएमसीएच में चल रहा है। मृतकों में गांव के योगेन्द्र राय की 55 वर्षीया पत्नी छठिया देवी ,उसका दो वर्षीय पोता अंकुश कुमार व उनकी पड़ोसी स्व. सभापति राय की 62 वर्षीया पत्नी देवकली देवी शामिल हैं। वहीं योगेन्द्र राय का पांच वर्षीय पोता अमित पीएमसीएच में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।चाय पीते ही अचानक ही बिगड़ने लगी सबकी स्थिति योगेन्द्र राय के घर में हर दिन सुबह की चाय उनकी पतोहू बनाया करती है।आज सुबह पतोहू अन्य घरेलू कार्य में व्यस्त थी तो सास छठिया देवी को चाय की तलब जगी और वे स्वयं ही चाय बनाने लगी। चाय बनाने के दौरान उसे चायपत्ती नही मिली तो वह ढूंढ़ने लगी। चाय पत्ती ढूंढ़ने के दौरान उसे घर में पॉलिथिन में टंगा थाईमेट कीटनाशक मिला।गलती से वह वृद्धा ने उस कीटनाशक को ही चायपत्ती समझ लिया और उसे चाय में डाल कर चाय बना ली। चाय बनने के बाद उसने उसे स्वयं पी और अपने दोनों पोता सहित पड़ोसी महिला देवकली देवी को भी पिलायी। चाय पीते ही सबों की तबियत बिगड़ने लगी। फिर उनके परिजन उन सबको परसा प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र ले गये। अस्पताल पहुंचते ही ड्यूटी पर तैनात डॉ. वन्दना पांडेय ने दो वर्षीय अंकुश को मृत घोषित कर दिया। वहीं इलाज के दौरान छठिया देवी व देवकली देवी ने भी दम तोड़ दिया। पांच वर्षीय अमित की स्थिति भी नाजुक थी, जिसे डॉक्टरों ने स्थिति नाजुक देखते ही पीएमसीएच रेफर कर दिया गया।जंहा अभी भी बच्चा की स्थिति नाजुक बनी हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here