समान काम के लिए समान वेतन की मांग को लेकर जून से देशभर के सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर हड़ताल पर जा सकते हैं। इसके पहले 16 मार्च को सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान देशभर के सरकारी डॉक्टर काली पट्टी लगाकर अपना विरोध दर्ज कराएंगे।उक्त बातें ऑल इंडिया फेडरेशन ऑफ गवर्मेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के तत्वावधान में आयोजित समारोह में संगठन के अध्यक्ष राजेश ख्यालिया एवं कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. राजेश गायकवाड़ ने संयुक्त रूप से कहीं। महाराष्ट्र से आए डॉ. राजेश गायकवाड़ ने कहा कि केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के अंतर्गत काम करने वाले डॉक्टरों को समान काम के लिए समान वेतन मिलना चाहिए। वर्तमान में वीआइपी की सेवा करने वाले डॉक्टरों को ज्यादा वेतन मिलता है, जबकि आम लोगों की गांवों में सेवा करने वाले डॉक्टरों को कम वेतन मिलता है।सरकारी सेवा में कार्यरत डॉक्टरों ने कहा कि देशभर के पीजी सीटों में 50 फीसद आरक्षण उन्हें मिलना चाहिए। सरकारी सेवा में कार्यरत डॉक्टरों को विशेषज्ञ बनने का अधिकार है। इस अवसर पर डॉक्टरों ने कहा कि हर चिकित्सक को पर्याप्त सुरक्षा मिलना चाहिए ताकि वह भयमुक्त होकर मरीजों की सेवा कर सके। इस अवसर पर डॉक्टरों के लिए ऑल इंडिया मेडिकल कैडर बनाने की मांग उठी। डॉक्टरों का कहना था कि उन्हें भी समय पर प्रोन्नति पाने का अधिकार है। समय पर प्रोन्नति सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए। बैठक में आए डॉक्टरों का स्वागत डॉ.रंजीत कुमार ने किया। इस अवसर पर डॉ. कुमार अरूण सहित कई चिकित्सकों ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here