प्रमोद यादव बस्ती– गन्ना किसान गन्ना पर्ची और बकाया भुगतान को लेकर परेशान है और सरकार किसानों की आय दो गुना करने के झूठे दावे कर रही है। यदि गन्ना किसानों की समस्याओं का शीघ्र निस्तारण न हुआ तो समाजवादी पार्टी आर-पार का संघर्ष छेड़ेगी। यह विचार उ.प्र. आवास विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह ने रविवार को टिनिच बाजार में आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुये व्यक्त किया।
कहा कि वाल्टरगंज, रूधौली चीनी मिलों पर गन्ना किसानों का करोड़ो रूपया बकाया है। वाल्टरगंज चीनी मिल ने पेराई बंद कर दिया है इसके बावजूद गन्ना किसानों को उनका भुगतान नहीं मिल पा रहा है। यही नहीं बभनान चीनी मिल में गन्ना पर्ची में बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा चल रहा है। वास्तविक किसान पर्ची के लिये परेशान हैं और मजबूरन दलालों के हाथ औने-पौने कीमत पर गन्ना बेच रहे हैं। किसानों की इस उपेक्षा को सपा बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्हे साथ में लेकर संघर्ष की धार को तेज किया जायेगा। इस सम्बन्ध में सोमवार को जिलाधिकारी से मिलकर समस्याओं के निस्तारण की मांग किया जायेगा।
सभा की अध्यक्षता करते हुये श्रीप्रकाश गुप्त ने कहा कि किसान लगातार संकटों का सामना कर रहे हैं और सरकार केवल सपने दिखा रही है। सभा को निर्मल सिंह, अजीत प्रताप सिंह, समीर चौधरी, राघवेन्द्र सिंह, शंकर यादव, मो0 स्वालेह, परशुराम यादव आदि ने सम्बोधित करते हुये जमीनी मुद्दे उठाये। सभा में राजेश यादव, जीत बहादुर, कन्हैया यादव, गौरव  सिंह, मानवेन्द्र सिंह, राजू, टी.एन. सिंह, सुभाष तिवारी के साथ ही बड़ी संख्या में क्षेत्रीय किसान मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here