प्रीत विहार में छह साल बाद बड़ी डकैती, कारोबारी परिवार निशाना बनाया

0
30
प्रीत विहार में 6 साल बाद बड़ी डकैती
नई दिल्ली  रामा नन्द तिवारी..
राजधानी के पॉश इलाके प्रीत विहार में हाल के बरसों में डकैती की सबसे बड़ी वारदात हुई है। हथियारबंद बदमाशों ने बुजुर्ग बिजनसमैन की कोठी पर धावा बोलकर घर में मौजूद तीनों बुजुर्गों और नौकर को बंधक बना लिया। विरोध करने पर बुजुर्ग बिजनसमैन और नौकर की बेरहमी से पिटाई की गई। यहां तक कि बिजनसमैन के मुंह में लोहे की रॉड घुसा दी, गोली मारने की धमकी भी दी। परिवार से करीब 15 लाख रुपये कैश और 10-15 लाख कीमत की गोल्ड व डायमंड की जूलरी लूटकर ले जाने की बात बताई गई है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि 2012 के बाद प्रीत विहार में इतनी बड़ी डकैती हुई है। हथियारबंद बदमाशों ने जिस तरह डकैती डाली, उससे शक गहरा रहा है कि इसके पीछे बांग्लादेशी बदमाशों का हाथ हो सकता है।
हार्डवेयर का बिजनस करने वाले 65 वर्षीय मनमोहन बंसल प्रीत विहार के ए ब्लॉक में रहते हैं। परिवार में पत्नी प्रेम बंसल (60), बुजुर्ग मां रमा बंसल (85) के अलावा बेटा निखिल और बेटी कनिका है। उन्होंने अजय (22) सहित दो नौकर भी रखे हुए हैं। निखिल और कनिका इन दिनों केदारनाथ दर्शन करने गए हैं। शुक्रवार तड़के सात बदमाश कोठी में घुस आए और बुजुर्ग दंपती, उनकी बुजुर्ग मां और नौकरों को बंधक बना लिया। मनमोहन बंसल और अजय ने विरोध किया तो जमकर पिटाई की गई। इसके बाद उनसे अलमारी की चाबी लेकर लूटपाट की।
कैसे घुसे बदमाश बदमाशों ने बिजनसमैन के घर डकैती डालने के लिए पहले खिड़की में लगी लोहे की ग्रिल हटाकर घर के अंदर घुसने की कोशिश की थी, लेकिन खिड़की के अंदर वाला हिस्सा लॉक था। इस कारण बदमाश खिड़की से घर के अंदर नहीं घुस पाए। इसके बाद साइड में लगी लोहे की ग्रिल और सीएनजी की पाइप लाइन के सहारे बदमाश पहली मंजिल पर पहुंच गए। बालकनी में लगे दरवाजे की कुंडी को तोड़कर बदमाश घर के अंदर घुस गए। इसके बाद बदमाशों ने बुजुर्ग बिजनसमैन के अलावा उनकी बूढ़ी मां और एक नौकर के हाथ पैर बांधकर बंधक बनाकर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। इस वारदात के बाद यह भी चर्चा शुरू हो गई है कि कहीं बांग्लादेशी बदमाश यहां दोबारा ऐक्टिव तो नहीं हो गए है/ पुलिस इस वारदात को बेहद गंभीरता से ले रही है।
इस खिड़की से नहीं घुस पाए थे बदमाश
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बिजनेसमैन जिस कोठी में रहते है उसके पास ही ग्रीन बेल्ट और रेलवे लाइन है। रेलवे लाइन के दोनों तरफ जंगल है। बदमाश इसी जंगल से चारदीवारी फांदकर कॉलोनी के अंदर घुसे। बिजनेसमैन के घर के बाहर बैठे प्राइवेट सिक्यॉरिटी गार्ड को सबसे पहले काबू किया। बदमाश गार्ड को खींचकर ग्रीन बेल्ट में ले गए। बदमाशों ने गार्ड का मुंह बांधकर उसे पेड़ से बांध दिया। कुछ बदमाश वहीं पर खड़े होकर उसकी निगरानी करते रहे, जबकि बाकी बदमाश वारदात को अंजाम देने के लिए बिजनसमैन की कोठी के अंदर घुसने का रास्ता देखने लगे।
बदमाशों ने सबसे पहले मेन गेट खोलकर खिड़की पर लगी लोहे की ग्रिल को हटाकर घर के अंदर घुसने की कोशिश की, लेकिन खिड़की अंदर से बंद मिली। इस कारण बदमाश यहां से अंदर नहीं घुस पाए। बदमाशों ने कोठी के साइड में लगी लोहे की ग्रिल और गैस की पाइप लाइन की मदद से चढ़ने का प्लान बनाया। यहीं पर एक कुर्सी पड़ी हुई थी, बदमाश इसे के ऊपर चढ़कर लोहे की ग्रिल को पकड़कर पहली मंजिल पर बालकनी में लगे गेट की कुंडी तोड़कर घर के अंदर घुस गए।
प्रीत विहार जैसी पॉश कॉलोनी में डकैती की वारदात से पुलिस की नींद उड़ी हुई है। पुलिस इसलिए भी परेशान है क्योंकि 6 साल बाद इस इलाके में डकैती जैसी बड़ी वारदात हुई है। कहने के लिए तो बिजनसमैन ने अपने घर के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवाए हुए हैं, लेकिन कैमरे पिछले दो साल से खराब पड़े हुए हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ऐसा लगता है कि बदमाशों को भी इस बारे में पता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here