मौत की हवा पर भी प्रशासन मौन आखिर क्यू नही हो रही आमजन लोगो के स्वास्थ्य की चिन्ता

0
77

वही ग्रामीणो ने कहा कही सुविधा शुल्क का तो नही चल रहा खेल
भरतकूप / इन दिनो भरतकूप क्रेशर नगरी में लोग साॅस लेने के लिए मजबूर है । क्रेशर की उडने वाली डृष्ट भरी धूल जहाॅ एक ओर लोगो के स्वाथ्य पर प्रभाव डाल रही है । वही भरतकूप से लगे क्षेत्रो की फसल भी हजारो बीघे की नष्ट के साथ बंजर मे तबदील हो रही है । वही नजदीकी घर बनाकर रह रहे लोगो का जीवन अस्त व्यस्त है । जहाॅ सरकार आम जनता के जीवन को लेकर शुध्द हवा एवं किसानो की स्थित में सुधार परिवर्तन लाने के लिए वृक्ष लगाने के साथ उबड़ खापड़ जमीनी समतलीकरण के नाम पर जोर दे रही है । लेकिल आज भी भरतकूप क्रेशर नगरी में लोगो के स्वास्थय के साथ धडल्ले से मानक विहीन क्रेशरो द्वारा खेलवाड करते देखा जा सकता है । जहाॅ लोगो के घरो मे बन रहे भोजन पर भी के्रशर की धूल के कण बैठ जाते है । जो खाने पीने मे बालू के किरकिरे महसूस होते है । वही रामनरेश सोहन राजू अनुराग आदि ने बताया कि रात में सोते वक्त अचानक हमारी साॅसे थमने लगती है और थूकने पर मुह से काले रंग का डृष्ट निकलता है । लेकिन घर यहाॅ है तो कंहा जाकर रहे वही लोगो ने जिलाधिकारी से निश्पच्क्ष जाॅच की माॅग किये है । और मानकविहीन पर उचित कार्यवाही की भी गुहार लगाये है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here