शर्मनाक : 68 हजार रुपए में बेच दी लड़की

0
34
नई दिल्ली रामा नन्द तिवारी..
नई दिल्ली : रुपए के लालच में एक पिता ने अपनी 11 साल की बेटी बेच दी। उसका विवाह 30 साल के एक युवक से बिचौलिए के जरिए कर दिया। नाबालिग बेटी के विवाह का मां ने जब विरोध किया तो उसे खामोश करा दिया गया।
पिता ने उसे आश्वासन दिया कि विवाह के बाद गौना (विदाई) बालिग होने पर होगा, लेकिन विवाह के बाद ससुराल वालों ने नाबालिग को मायके नहीं भेजा।
मां ने कई बार बेटी से सम्पर्क करने का प्रयास किया…!!
बेटी के विवाद के बाद से बेचैन मां ने कई बार बेटी से सम्पर्क करने का प्रयास किया, लेकिन न तो पति ने साथ दिया और न ससुराल वालों ने बेटी से मिलने दिया। थक हार कर मां ने बेटी को बचाने के लिए अपने पति, बिचौलिए व बेटी के पति के खिलाफ कासना थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने बेटी को बुलंदशहर से मुक्त कराकर मां को सौंप दिया और फरार आरोपियों को सोमवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया।
महिला ने दर्ज कराई शिकायत…!!
सूरजपुर कोतवाली पुलिस के मुताबिक, साइट-बी में किराये पर रहने वाली एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें कहा है कि उसके पति ओमकार ने अलोनी (बुलंदशहर) निवासी विनोद से कहा था कि उसे रुपए की आवश्यकता है, अगर वह दे तो वह अपनी 11 साल की बेटी का विवाह कर देगा। इस पर विनोद ने अलोनी गांव के ही देवेंद्र (35) से बात कर 11 मई 2018 को उसकी बेटी का विवाह कर दिया। विवाह की एवज में ओमकार को 68 हजार रुपए दिलाए गए।
आरोपियों ने लड़की के मोबाइल का सिम भी तोड़ दिया…!!
वहीं, लड़की की मां ने बताया कि उससे कहा गया था कि विवाह के बाद गौना (विदाई) लड़की के बालिग होने पर होगा। इस पर उसने मंजूरी दी थी, लेकिन विवाह के बाद ससुराल वाले एक-दो दिन बाद वापस भेजने की बात कहकर लड़की को ले गए और वापस नहीं भेजा। पीड़िता की मां ससुराल वालों को फोन कर बेटी को मायके भेजने के लिए कहती थी, लेकिन उसकी नहीं सुनी गई। मां-बेटी को फोन पर बात करने से रोकने के लिए आरोपियों ने लड़की के मोबाइल का सिम भी तोड़ दिया। इसके चलते मामले की शिकायत आईजीआरएस पर की गई। इसके बाद पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज की।
लड़की का दर्ज कराया कोर्ट में बयान…!!
सूरजपुर कोतवाली प्रभारी मनोज पंत ने बताया कि फिलहाल बाल विवाह के आरोप में रिपोर्ट दर्ज किया है। लड़की का मेडिकल परीक्षण और कोर्ट में बयान दर्ज कराया जाएगा। रिपोर्ट और बयान के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। पिता ने बताया कि उसने मजबूरी में बेटी का विवाह किया। वह जिस मालिक की गाड़ी चलाता है। उसका 15 हजार कर्जा था। मालिक उसे कर्ज के लिए धमकाने लगा था और उसे गाड़ी से हटाने की बात करने लगा था, जिससे परेशान हो गया। परिचित विनोद ने बेटी की शादी बुलंदशहर में कराने की बात कही, जिसके बदले में पैसा दिलाने को कहा। उसकी बातों में आकर यह कदम उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here