मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलकर दीन दयाल उपाध्याय, भगवा हुआ स्टेशन

2
4394
स्टेशन के नए नाम की घोषणा से पहले ही उसे भगवा रंग में रंग दिया गया है. यह स्टेशन ब्रिटिश काल में बना था और 1968 में मुगलसराय स्टेशन पर ही पंडित दीन दयाल उपाध्याय मृत अवस्था में पाए गए थे.
चंदू शर्मा
उत्तर प्रदेश के मुगलसराय जंक्शन का नाम आज से बदल जाएगा. अब यह ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम जाना जाएगा. रेल मंत्री पीयूष गोयल इसकी घोषणा करेंगे. इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे.
मुगलसराय के मण्डल रेल प्रबन्धक पंकज सक्सेना ने बताया कि गोयल रेलवे जंक्शन के नये नाम की घोषणा करने के साथ-साथ उसके यार्ड को स्मार्ट यार्ड बनाने, रूट रिले इंटरलाकिंग तथा रेलवे स्टेशन पर अन्य विकास कार्य कराने का एलान भी कर सकते हैं.
सक्सेना ने बताया कि वह ‘एकात्म एक्सप्रेस’ ट्रेन को हरी झंडी भी दिखाएंगे. यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन सुलतानपुर के रास्ते चलाईजाएगी.
इस कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अलावा रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा अन्य वरिष्ठ भाजपा नेता भी मौजूद रहेंगे.
भगवा हुआ स्टेशन
इस बीच, सम्पूर्ण रेलवे स्टेशन को केसरिया रंग में रंगा जा रहा है और परिसर में प्रवेश और निकास द्वार के साइनबोर्ड के साथ-साथ प्लेटफार्म के नाम को भी बदला जा रहा है. ‘एकात्म मानववाद’ का संदेश देने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विचारक दीन दयाल उपाध्याय फरवरी 1968 में मुगलसराय रेलवे स्टेशन के पास ही संदिग्ध अवस्था में मृत पाये गये थे.
उत्तर प्रदेश सरकार ने इस साल जून में मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने का फैसला किया था. मंत्रिपरिषद की बैठक में मंजूरी के बाद इस प्रस्ताव को रेल मंत्रालय के पास भेजा गया था.
चंदौली से सांसद और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा देने वाले पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर मुगलसराय जंक्शन का नामकरण कराये जाने पर सिर्फ चंदौली ही नहीं बल्कि पूरे देश के लोगों में उत्साह है.
उन्होंने कहा कि उपाध्याय महान चिंतक थे. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही केन्द्र सरकार तथा उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार उन्हीं की बातों को ध्यान में रखकर आमजन के कल्याण के लिये नीतियों का निर्माण कर रही हैं.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here