राम मंदिर और सरकार ना राम मंदिर बन पाया ना सरकार राम राज्य ला पाई

0
186

राम मंदिर एक ऐसा मुद्दा जो सरकार बनानने मे अहम भूमिका मे रहता है और उसके ठेकेदार जो चुनाव के समय राम मंदिर बना ही चुके होते है उन्हे बस उस समय उन्हे इट और सीमेंट नही मिलता मंदिर निर्माण के लिए और चुनाव के बाद तो वो भूल ही जाते है की मंदिर भी बनवाना है खैर चुनाव नज़दीक है और मुद्दा भी गरमाने वाला है तो इस पर एक बात यह है की मामला कोर्ट मे अब तक क्यू खिच रहा है जबकि सरकार आते ही फ़ैसला हो जाना था और सरकार तो वैसे भी कोर्ट की कहा सुनती है अभी अभी हमने उदहारण देखा ‘Sc st act पर कोर्ट के फ़ैसले को कैसे सरकार बदल रही है वैसे ही राम मंदिर भी बनवा सकती है अगर चाहे तो पर उसके लिए चाहना ज़रूरी है फिलहाल तो बहाना कोर्ट का है और काफ़ी बाड़िया है जनता को कैसे बनना है ये नीति ही तो आख़िर राजनीति है सरकार जब तक मंदिर नही बनाएगी तब तक मुद्दा बना रहेगा तो मंदिर तो आप भूल जाए टीवी शो मे जो आप सुन रहे है वो सच मे एक शो है बैठकर देखिए और फिर भूल जाइए वो है ना

राम नाम की लूट है लूट है लूट सके तो लूट तो इसी आधार पर सब चल रहा है राम मंदिर का सत्य यह है की वो जब राम चाहेंगे  तब बनेगा और और तब तक मंदिर के नाम पर राजनीति होती रहेगी धर्म के साथ खेल और लोगो के बीच मतभेद यही राजनीति है राम मंदिर की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here