रवींद्रनाथ टैगोर के विचारों पर एक नजर, जो बदल सकते हैं आपका जीवन

0
142
चंदू शर्मा
रवींद्रनाथ टैगोर देश के राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ के रचयिता हैं. भारत के अलावा, बांग्लादेश के राष्ट्रीय गान ‘आमार सोनार बांग्ला’ की भी रचना टैगोर ने ही की है.

रवींद्रनाथ टैगोर एक महान कवि, साहित्यकार, दार्शनिक, संगीतकार, कहानीकार, गीतकार और चित्रकार थे. यह इकलौते ऐसे भारतीय साहित्यकार थे, जिन्हें उनकी रचनाओं के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. आमतौर पर इन्हें आधुनिक भारत का असाधारण सृजनशील कलाकार माना जाता है.

रवींद्रनाथ टैगोर ने सफल जीवन जीने को लेकर कई पॉजिटिव विचार समाज को दिए हैं. इनके इन विचारों को जानकर किसी का भी जीवन बदल सकता है. आप भी जानिए रवींद्रनाथ टैगोर के प्रेरणादायक विचार:

1: A mind all logic is like a knife all blade. It makes the hand bleed that uses it.
In Hindi: सिर्फ तर्क करने वाला दिमाग एक ऐसे चाक़ू की तरह है जिसमे सिर्फ ब्लेड है. यह इसका प्रयोग करने वाले के हाथ से खून निकाल देता है.
2: Age considers; youth ventures.
In Hindi : आयु सोचती है, जवानी करती है.
3: Bigotry tries to keep truth safe in its hand with a grip that kills it.
In Hindi : कट्टरता सच को उन हाथों में सुरक्षित रखने की कोशिश करती है जो उसे मारना चाहते हैं.
 4: By plucking her petals, you do not gather the beauty of the flower.
In Hindi : पंखुडियां तोड़ कर आप फूल की खूबसूरती नहीं इकठ्ठा करते.
 5: Death is not extinguishing the light; it is only putting out the lamp because the dawn has come.
In Hindi : मौत प्रकाश को ख़त्म करना नहीं है; ये सिर्फ दीपक को बुझाना है क्योंकि सुबह हो गयी है.
 6: Depth of friendship does not depend on length of acquaintance.
In Hindi : मित्रता की गहराई परिचय की लम्बाई पर निर्भर नहीं करती .
 7: Don’t limit a child to your own learning, for he was born in another time.
In Hindi : किसी बच्चे की शिक्षा अपने ज्ञान तक सीमित मत रखिये, क्योंकि वह किसी और समय में पैदा हुआ है.
 7:Emancipation from the bondage of the soil is no freedom for the tree.
In Hindi : मिटटी के बंधन से मुक्ति पेड़ के लिए आज़ादी नहीं है
8: Every child comes with the message that God is not yet discouraged of man.
In Hindi : हर बच्चा इसी सन्देश के साथ आता है कि भगवान अभी तक मनुष्यों से हतोत्साहित नहीं हुआ है.
9: Every difficulty slurred over will be a ghost to disturb your repose later on.
In Hindi : हर एक कठिनाई जिससे आप मुंह मोड़ लेते हैं,एक भूत बन कर आपकी नीद में बाधा डालेगी.
10: Everything comes to us that belongs to us if we create the capacity to receive it.
In Hindi : जो कुछ हमारा है वो हम तक आता है ; यदि हम उसे ग्रहण करने की क्षमता रखते हैं.
11: Facts are many, but the truth is one.
In Hindi : तथ्य कई हैं पर सत्य एक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here