: बारिश के बाद मौसम में आए बदलाव से जिला लगातार पांचवें दिन रविवार को भी कोहरे की घनी चादर में लिपटा रहा

0
85

रेवाड़ी ( आकाश सोनी) : बारिश के बाद मौसम में आए बदलाव से जिला लगातार पांचवें दिन रविवार को भी कोहरे की घनी चादर में लिपटा रहा। कोहरे की अधिकता की वजह से सड़कों पर ²श्यता पूरी तरह से शून्य रही, जिसकी वजह से रविवार को नारनौल रोड एक ट्रक टकरा गया। गनीमत यह रही इस हादसे में जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। रविवार को अधिकतम तापमान 22.5 तथा न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

सामान्य जनजीवन पर रहा व्यापक असर

बुधवार से प्रारंभ हुआ कोहरे का सिलसिला रविवार को भी काफी अधिक रहा जिसकी वजह से रेल एवं सड़क यातायात पर इसका काफी अधिक असर रहा, जिसके चलते शनिवार को स्थानीय स्टेशन पर आने वाली तमाम ट्रेन अपने निर्धारित समय से चार से पांच घंटे की देरी से पहुंची। वहीं रोडवेज की बसों पर भी कोहरे का काफी अधिक असर रहा जिसके चलते बसें भी एक से दो घंटे की देरी से आई। ऐसे में लंबी दूरी की बसों का संचालन भी प्रभावित होने लगा है। कोहरे के साथ न्यूनतम तापमान में गिरावट की वजह से सर्दी का असर भी काफी अधिक बढ़ गया है, जिससे सामान्य जनजीवन पर भी व्यापक असर नजर आया। शहर के बाजारों से लेकर पार्कों में लोगों की भी संख्या बेहद कम रही। दिन के समय में खिली धूप ने लोगों को राहत दी, लेकिन शाम होते ही ठिठुरन भरी सर्दी का असर बढ़ गया। उधर सर्दी के बढ़ते असर से किसान खुश है क्योंकि फसलों के लिए अभी सर्दी जरूरी है।

अभी राहत की संभावना कम

चौधरी चरण¨सह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के बावल स्थित अनुसंधान केंद्र के मुताबिक पश्चिम विक्षोभ की वजह से बारिश हुई है तथा फिलहाल बारिश की अभी कोई संभावना नहीं है। हालांकि अभी कोहरे का असर 30 जनवरी तक बने रहने की संभावना है जिससे आने वाले दिनों में लोगों की मुसीबत कम होने वाली नहीं है।

आज-कल रद रहेगी पूजा एक्सप्रेस

कोहरे की वजह से ट्रेनों के निर्धारित समय पर नहीं पहुंचने की वजह से ट्रेनों की सेवाएं प्रभावित होने लगी है। रेलवे प्रशासन ने इस स्थिति को देखते हुए 29 जनवरी को जम्मूतवी से चलकर अजमेर आने वाली तथा डाउन में अजमेर से चलकर जम्मूतवी को जाने वाली ट्रेन को 30 जनवरी को रद कर दिया गया है।

 

फिलहाल कोहरे की वजह से फसलों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि फिलहाल सरसों एवं गेहूं को अभी सर्दी की जरूरत है। लगातार कई दिनों तक कोहरा पड़ने की स्थिति में नुकसान हो सकता है लेकिन फिलहाल कोई नुकसान नहीं है। किसान आवश्यकता के अनुसार फसलों में ¨सचाई करें।

-डॉ. दीपक यादव, उपमंडल अधिकारी कृषि।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here