मंगोल पूरी इलाके में स्कूल कैब पलटी, कई बच्चे घायल, सारे नियम कायदों को ताक पर रख कर पूरी दिल्ली में दौड़ती हैं ऐसी बहुत कैब

0
50
नई दिल्ली (रामा नन्द तिवारी)
राजधानी दिल्ली की सड़कों पर बेलगाम दौड़ती हैं स्कूल कैब और हादसों को दे रहीं हैं दावत। ताज़ा मामला बाहरी दिल्ली के मंगोल पूरी इलाके का है जहां आज सुबह छोटे बच्चो को ले जाते हुए एक तेज़ रफ़्तार इको वेन पलट गई जिसमें करीब आधा दर्जन से ज्यादा बच्चे घायल हो गए जिसमे एक बच्चे को हालात ज्यादा गंभीर बताई जा रही है। वेन में करीब 20 बच्चे से थे सवार। पुलिस ने वेन जब्त कर जांच में जुटी।
सड़क पर पलटी हुई ये इको वेन को देखिए आज सुबह मंगलवार को इसमें करीब 20 स्कूली बच्चे रोहीनी सेक्टर 3 स्थित केंद्रीय विद्यालय जा रहे थे, अगर चश्मदीदों की माने तो जैसे ही ये स्कूल वेन यहां मंगोल पूरी इलाके के फर्नीचर मार्किट के पास जैसे ही वेन पहुंची तो यहां पर खड़े कुछ पुलिसकर्मियों ने उसे रुकने का इशारा किया जिसके बाद ड्राइवर ने गाड़ी को और तेज रफ्तार में भगाने की कोशिश की जिसके चलते गाड़ी अनियंत्रित हो गई और सड़क पर पलट गई। इस हादसे में इसी वैन में सवार करीब आधा दर्जन से ज्यादा बच्चे घायल हो गए जिसमें एक बच्चे की हालत गंभीर बताई जा रही है बच्चों को पास के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है सूचना मिलने के बाद पुलिस और बच्चों के अभिभावक मौके पर पहुंचे।
वी ओ :-
गौरतलब है कि पूरी दिल्ली में इसी तरह की हजारों स्कूल कैप ट्रैफिक के तमाम नियम और कायदे को ताक पर रखकर राजधानी की सड़कों पर बेलगाम सरपट दौड़ रही हैं जिसमें इस तरह की प्राइवेट नंबर की कार्य भी शामिल है और इन सभी स्कूल कैब में छोटे-छोटे मासूम बच्चों को भेड़ बकरियों की तरह ठोस ठोस कर बिठाया जाता है जिसके बारे में स्कूल प्रशासन से शिकायत करने पर वह अपना पल्ला झाड़ लेते हैं साथ ही आरोप यह भी है कि पुलिस की मिलीभगत से यह स्कूल कैब सभी नियमो की धज्जियां उड़ती हैं। जबकि इनको लेकर कई बार न्यूज़ चैनेल्स ओर अखबारों में भी खबरें दिखाई जा चुकी हैं। और समय समय पर सरकार की तरफ से भी इनको लेकर कई एडवाइजरी भी जारी की जाती है। बावजूद इसके ट्रफिक पुलोस को मंथली देकर इनके सारे नियम कायदे पूरे न होने के बावजूद भी पूरे हो जाते हैं । यहीं वजह है कि सड़कों पर स्कूली बच्चो को लाने ले जाने वाली ये कैब आये दिन हादसे का शिकार हो जाती हैं। और बच्चो की जान तक पर बन आती है संदीप (चश्मदीद, टोपी पहने हुए)
बरहाल मोके पर पहुँची केट्स एम्बुलेन्स ने घायल बच्चो को अस्पताल में एडमिट करवा दिया है जहाँ उनका उपचार चल रहा है। और पुलिसने भी वेन को कब्जे में लेकर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है। लेकिन जिस तरह से ये कैब सारे नियम कायदों को धत्ता बताकर छोटे छोटे बच्चो को जान से खिलवाड़ कर रहीं है। वो भी एक बड़ा ही गंभीर विषय है। जिसके लिए प्रशासन को कोई ठोस कदम उठाने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here