बहरोड़ व्यापारी हत्याकांड में ऐतिहासिक फैसला -मुख्य अभियुक्त को सज़ा ए मौत सह अभियुक्त को आजीवन कारावास

0
201
बहरोड़ अलवर मयंक शर्मा
बहरोड़ अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रवेंद्र पाल सिंह ने सोमवार को कस्बे के सबसे चर्चित हत्याकांड में कड़ा फैसला लेते हुए मुख्य अभियुक्त को फांसी सह अभियुक्त को आजीवन कारावास की सजा सुनाई ।
 
बहरोड़ के मुख्य बाजार में पर्रा ने एक व्यापारी को सरेआम दिनदहाड़े मारी थी छाती में गोलियां !
अपर लोक अभियोजक गुलाब सिंह के अनुसार कस्बा निवासी व्यापारी गीगराज ने 4 मार्च 2016 को थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उसका पुत्र घनश्याम बाजार स्थित दुकान पर बैठा था। वहां पर एक बाइक पर तीन जने आए। जिसमें से दो जने दुकान में घुस गए और गल्ले से रुपए निकालने लगे। घनश्याम द्वारा मना करने पर बहरोड़ निवासी प्रसन्नदीप उर्फ पर्रा पिस्टल से घनश्याम की छाती में गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने आरोपित पर्रा के साथ सहयोगी जटगांवड़ा निवासी अशोक उर्फ धोलिया, बहरोड़ निवासी बाबा वेदगिरी व भगवाड़ी निवासी रोहित को गिरफ्तार किया था। जिसमे न्यायाधीश ने सुनवाई के बाद बाबा वेदगिरी व रोहित को दोषमुक्त कर दिया तथा मुख्य आरोपित प्रसन्नदीप उर्फ पर्रा और अशोक उर्फ धोलिया को दोषी माना है। जिनको आज प्रसंदीप उर्फ पर्रा को फांसी की सजा व अशोक उर्फ धोलिया को  आजीवन कारावास की सजा सुनाई है । इस फैसले से कस्बे के लोगो मे खुशी का माहौल पैदा हो गया । वही गलियारों में चर्चा आम हो गयी कि यदि इस तरह के फैसले आएंगे तो निश्चित तौर पर अपराधों में अंकुश लगेगा । उल्लेखनीय है कि उक्त मामला अवैध वसूली को लेकर हुई हत्या का था। जिसमें व्यापारी की हत्या को लेकर कस्बे में कई दिनों तक पुलिस प्रशासन के खिलाफ आन्दोलन चला था।
 अलवर एस पी राहुल प्रकाश ने आज प्रेसकांफ्रेस की व पर्रा के मुकदमें के समय थाने में मौजूद पुलिस के अधिकारियों को  सम्मानित किया तथा न्यायाधीश के फैसले की सराहना करते हुए समाज को अच्छा सन्देश देना बताया ।
एएसपी तेजपाल सिंह, एसएचओ रणजीत सेवदा, वर्तमान एसएचओ केश ऑफिसर स्कीम में महावीर सिंह शेखावत का फूल माला पहनाकर किया सम्मानित
Dsp जनेश सिंह तंवर भी रहे उपस्थित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here