हिमाचल में 80 हजार करोड़ के औद्योगिक निवेश का लक्ष्य किया निर्धारित : वीरेंद्र कंवर

Total Views : 130
Zoom In Zoom Out Read Later Print

हिमाचल में 80 हजार करोड़ के औद्योगिक निवेश का लक्ष्य किया निर्धारित : वीरेंद्र कंवर

2019 की अंतिम तिमाही में प्रदेश में एक बड़े इन्वेस्टर मीट का आयोजन किया जाएगा......

भविष्य में प्राकृतिक साधनों के माध्यम से विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में अनेक कदम उठाने की आवश्यकता....

बद्दी (पंकज गोल्डी) ! हिमाचल प्रदेश सरकार ने अपने वर्तमान कार्यकाल में प्रदेश में अस्सी हजार करोड़ के औद्योगिक निवेश का लक्ष्य निर्धारित किया है, तथा गत डेढ़ वर्षो में प्रदेश में तेईस हजार करोड रुपए के औद्योगिक निवेश को मंजूरी प्रदान की गई है। यह जानकारी आज बरोटीवाला की समीप झाड़माजरी में टेरामैक्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के हिमाचल प्रदेश में अधिकृत वितरक एचपी एनर्जी सालूशन के विधिवत उद्घाटन अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर ने दी।
उन्होंने कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हुए बिना किसी भी देश का अर्थव्यवस्था की बुलंदियों को छूना संभव नहीं है। वीरेंद्र कंवर ने कहा कि केंद्र सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सौर और पवन ऊर्जा चलित उपकरणों के माध्यम से उर्जा की पैदावार बढ़ाने के लिए अनेक महत्वपूर्ण कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार प्रदेश में रोजगार संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए विभिन्न प्रकार के निवेश को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि सरकार न केवल औद्योगिक सैक्टर में निवेश के लिए आवश्यक कदम उठा रही है बल्कि पर्यटन दूध उत्पादन एवं प्रोसेसिंग, कृषि, बागवानी, पशुपालन व मत्स्य पालन के क्षेत्र में भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से निवेश को प्रोत्साहन दे रही है, उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में औद्योगिक एवं सभी प्रकार के निवेश की स्वीकृतित संबंधी प्रक्रियाओं का सरकार द्वारा सरलीकरण किया जा रहा है तथा निवेशकों की भविष्य संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए आवश्यक सुविधाओं के विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है उन्होंने बताया कि वर्ष 2019 की अंतिम तिमाही में प्रदेश में एक बड़े इन्वेस्टर मीट का आयोजन किया जा रहा है जिसके माध्यम से प्रदेश में भविष्य में न केवल हजारों करोड़ रुपय का निवेश होगा, बल्कि प्रदेश के नौजवान युवक युवतियों को उनके घर द्वार पर ही रोजगार एवं स्वरोजगार के बेहतर अवसर मिलेंगे।
वीरेंद्र कंवर ने कहा कि टेरामैक्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा एचपी एनर्जी सॉल्यूशंस के माध्यम से सौर एवं हाइब्रिड उपकरणों संबंधी सेवा से हिमाचल प्रदेश के लोगों तथा औद्योगिक घरानों को विशेष लाभ मिलेगा तथा ऊर्जा की बचत होगी। उन्होंने बताया कि आज देश में पचहत्तर लाख मेगावाट विद्युत ऊर्जा की आवश्यकता है जबकि जबकि वर्तमान में चालीस लाख मेगावाट विद्युत ऊर्जा का ही उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में प्राकृतिक साधनों के माध्यम से विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में अनेक कदम उठाने की आवश्यकता है।
इस अवसर पर दून विधानसभा क्षेत्र के विधायक परमजीत सिंह पम्मी, राज्य जल प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह सैनी, हिमाचल प्रदेश राज्य सामान्य उद्योग निगम के उपाध्यक्ष मनोहर धीमान, भाजपा अंत्योदय प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष बसंत, हिमाचल प्रदेश राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष अशोक शर्मा, भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य डॉ श्रीकांत शर्मा भाजपा दून मंडल के अध्यक्ष बलवीर ठाकुर लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष राजीव कंसल, खंड विकास अधिकारी नालागढ़ राजकुमार, स्थानीय पंचायत प्रधान सोनू देवी, पूर्व प्रशासनिक अधिकारी भारत भूषण, टैरामैक्स के निर्देशक युवराज चौधरी, एचपी एनर्जी सॉल्यूशंस के प्रबंध निदेशक हरमेल धीमान सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

See More

Latest Photos