JNU छात्र शरजील इमाम -गिरफ्तार-लगा देशद्रोह का आरोप

Total Views : 82
Zoom In Zoom Out Read Later Print

जहानाबाद से गिरफ्तार हुये शरजील इमाम

दिल्ली

एस0के0 श्रीवास्तव
(नेशनल ब्यूरोचीफ)
NTVtime हिन्दी न्यूज चैनल

JNU छात्र शरजील इमाम -आखिर कार गिरफ्तार

IIT बॉम्बे से M.Tech, फिर यूरोप में की नौकरी ...और अब देशद्रोह का आरोप

 नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Ammendment Act) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान 'भड़काऊ' भाषण देने के आरोपित जेएनयू (JNU) के शोधार्थी शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज होने के बाद उसकी गिरफ्तारी को लेकर कई राज्यों की पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी।
अंतत: उसे बिहार में गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें कि शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह असम को भारत से काटने की बात कहता दिख रहा है।

बिहार के जहानाबाद जिले का रहने वाला है शरजील इमाम

शरजील इमाम मूल रूप से बिहार के जहानाबाद का रहनेवाला है।
उसपर भड़काऊ भाषण के लिए देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है।
दिल्ली पुलिस को ये आशंका थी कि शरजील इमाम भागकर नेपाल चला गया है। इस बीच पुलिस ने जहानाबाद में उसके भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ में मिले सुराग के आधार पर पुलिस ने मंगलवार को शरजील को गिरफ्तार कर लिया।

--: कौन है शरजील इमाम :--

यूरोप में की नौकरी, जेएनयू से कर रहा पीएचडी

जेएनयू (JNU) से पीएचडी कर रहा शरजील इमाम यूरोप में मोटी पगार की नौकरी छोड़ कर वतन लौटा है। इसके बाद शरजील ने जेएनयू में पीएचडी में दाखिला लिया। फिर वह इस्लामिक इलमों की ओर मुड़ता चला गया और पांच वक्त का नमाजी भी बन गया।

जानकारी के मुताबिक, आइआइटी बॉम्बे (IIT Bombay) से कंप्यूटर साइंस (Computer science) में एमटेक (M Tech) की डिग्री हासिल करने के बाद शरजील भारत से यूरोप चला गया था। वहां मोटी पगार पर वह वर्षों तक नौकरी करता रहा। फिर नौकरी छोड़कर वह वापस भारत लौट आया। यहां उसने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में पीएचडी करने के लिए दाखिला ले लिया।

धार्मिक बयान, भड़काऊ भाषण देनेवाला शरजील पांच वक्त नमाजी है:--

शरजील इमाम इस्लामिक इलमों की ओर मुड़ता चला गया और वह पांचों वक्त का नमाजी भी बन गया। अपनी धार्मिक पहचान को बुलंदी पर ले जाने के लिए शरजील इमाम ने उग्र बयानों और भड़काऊ भाषणों का सहारा लिया। इस दौरान वह अपने भाषणों और बयानों को लेकर मीडिया में भी छाया रहा।

उसकी लेखनी और सोच में कट्टरता की झलक आती रही। यही कारण है कि वायरल हुए अपने देश विरोधी भाषण के पहले शरजील कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटने के मुद्दे को लेकर भी सक्रिय रह चुका है। वहीं, मॉब लिंचिंग के मुद्दे को भी देश भर में चर्चा का विषय बनाने में उसकी खास भूमिका रही है। यही वजह है कि शरजील के फेसबुक वॉल पर भी पुलिस की पैनी नजर थी।

शरजील ने अपने बारे में बताया है कि उसने पटना के सेंट जेवियर हाईस्कूल से पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली के वसंत कुंज स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल से पढ़ाई की। इसके बाद उसने आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई की।

वह यूरोप के आईटी यूनिवर्सिटी ऑफ कोपेनहेगेन में प्रोग्रामर के पद पर काम कर चुका है। इतना ही नहीं, आईआईटी बॉम्बे में सहायक शिक्षक के तौर पर भी वह अपना योगदान दे चुका है।

शाहीनबाग प्रदर्शन के पीछे भी है शरजील की ही योजना होने का हुआ खुलासा:--

कहा जा रहा है कि दिल्ली के शाहीन बाग में हो रहे हंगामे के पीछे शरजील की ही बनायी गई योजना है। क्योंकि शरजील इमाम ने अपने फेसबुक पेज पर विस्तार से शाहीन बाग प्रोटेस्ट कब और कैसे शुरू किया, इसके बारे में बताया है। धीरे-धीरे शाहीन बाग का प्रदर्शन पूरे देश में चर्चा में आ गया और उसी के तर्ज पर देश के विभिन्न शहरों में भी अनिश्चितकालीन धरना शुरू हो गया।

जहानाबाद के ताज रेस्ट हाउस के पास पिछले कई दिनों से जारी अनिश्चितकालीन धरने के पीछे भी शरजील इमाम की ही प्रेरणा बतायी जा रही है। शरजील इमाम का चचेरा भाई मुजम्मिल इमाम इस शांतिपूर्ण धरने का आयोजक बताया जाता है।

--:यह भी जानिए:-

बिहार में राजनीति से जुड़ा है परिवार

शरजील के परिवार के सदस्यों का राजनीति से नाता रहा है। उसके पिता मोहम्मद अकबर इमाम का इंतकाल करीब चार साल पहले हो गया था। वे स्थानीय पूर्व सांसद अरुण कुमार के काफी करीबी माने जाते थे। अरुण कुमार जब समता पार्टी में थे, तब भी वे उनके साथ थे। उनके साथ ही वे जेडीयू में भी आये थे। शरजील इमाम का छोटा भाई पूर्व सांसद अरुण कुमार की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (सेक्युलर) का सदस्य है।

जहानाबाद में भड़काऊ भाषण देने के आरोपी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय(जेएनयू) छात्र शरजील इमाम को गिरफ्तार कर लिया गया है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने शरजील को जहानाबाद के काको थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया। पुलिस के द्वारा शरजील से पूछताछ की जा रही है। 25 जनवरी को शरजील का लोकेशन पटना में पाया गया।26 जनवरी को शरजील इमाम के बिहार स्थित पैतृक आवास पर छापेमारी की गई थी। 27 जनवरी को इमाम की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली, मुंबई, पटना में छापेमारी की थी। वहीं मंगलवार को जहानाबाद पुलिस ने शरजील के भाई को हिरासत में लिया। बता दें कि शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के मंच से असम को भारत से अलग करने की बात कह रहे थे।
शरजील इमाम पर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में असम, यूपी, दिल्ली सहित पांच से अधिक राज्यों में मुकदमा दर्ज किया गया है.

See More

Latest Photos