पूरे देश में ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के फॉर्मेट में बदलाव किया जाएगा.

Total Views : 99
Zoom In Zoom Out Read Later Print

पूरे देश में ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के फॉर्मेट में बदलाव किया जाएगा.

अंबाला (हरियाणा ब्यूरो) अनामिका  ntv time




केन्द्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने फैसला किया है कि पूरे देश में ड्राइविंग लाइसेंस (DL) के फॉर्मेट में बदलाव किया जाएगा. सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का सुझाव है कि RTOs को पूरे देश में यूनिवर्सल स्मार्ट कार्ड DL फॉर्मेट का इस्तेमाल कर DL का यूनिफॉर्म फॉर्मेट जारी करना चाहिए.
अभी कुछ राज्यों जैसे महाराष्ट्र व दिल्ली में चिप वाले स्मार्ट कार्ड DL जारी किए जाते हैं. वहीं यूपी जैसे अन्य राज्यों में बिना चिप वाले लैमिनेटेड कार्ड जारी होते हैं. मंत्रालय देश के सभी राज्यों के लिए कॉमन स्टैंडर्ड फॉर्मेट और डिजाइन निर्धारित कर चुका है.
30% भारतीयों के लाइसेंस फर्जी
गौरतलब है कि मंत्रालय पहले ही कह चुका है कि तकरीबन 30 प्रतिशत भारतीयों के लाइसेंस फर्जी हैं. इसके अलावा पुलिस रिपोर्ट्स के मुताबिक अकेले दिल्ली एनसीआर में जनवरी 2019 के शुरुआती 15 दिनों में ही अवयस्कों द्वारा ड्राइविंग के मामलों में 589 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. जिनमें 61 में जुवेनाइल के मामले से जुड़े थे और उन्हें चालान जारी किये गए.
‘सारथी’ पकड़ सकता है फर्जी डीएल लाइसेंस
मंत्रालय पहले ही ड्राइविंग लाइसेंस के लिए सारथी एप्लीकेशन डेवलप कर चुका है, जिसमें पूरे देश के सभी लाइसेंसधारकों का डाटाबेस मौजूद है. तकरीबन 15 करोड़ लाइसेंस धारकों के रिकॉर्ड इसमें शामिल हैं. वहीं सारथी एप्लीकेशन में यह भी फीचर है कि रियल-टाइम ऑनलाइन बेसिस पर फर्जी लाइसेंस के साथ चालान से संबंधित जानकारियों को पकड़ सकता है.




See More

Latest Photos