इस्लामाबाद । पाकिस्तान के विदेश मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक को यहां अपना कायार्लय खोलने के लिए आमंत्रित किया है। हुसैन ने यहां डिजीटल मीडिया के महत्व पर आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा कि देश में विज्ञापन उद्योग की सालाना आमदनी सात अरब रूपए की है और सरकार ने अपने एक तिहाई विज्ञापन डिजीटल मीडिया को दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि विज्ञापनों का दायरा अब पारंपरिक मीडिया से हट कर कर डिजीटल मीडिया की तरफ जा रहा है और यह पारंपरिक मीडिया के लिए एक बड़ा संकट है। यदि इस संकट से निपटना है तो मीडिया में आधुनिक तकनीक को अपनाना जरूरी है क्योंकि पाकिस्तानी पेशवर अभी भी तकनीक से अधिक परिचित नहीं है।
उन्होंने मीडिया जगत से इस बात पर शोध करने का आग्रह किया कि पांरपरिक मीडिया पर डिजीटल मीडिया का क्या और कितना असर हो रहा है। हुसैन ने कहा कि सरकार ने 'एसोसिएटिड प्रेस ऑफ पाकिस्तान 'को डिजीटल सर्विस ऑफ पाकिस्तान में परिवर्तित करने का फैसला किया है और सरकार इस पर 85 करोड़ रूपए खर्च कर रही है लेकिन यह भारी बिडंबना है कि इसके अधिकतर कर्मचारियों को  ई-मेल अकाउंट आपरेट करना ही नहीं आता है।