नए कपल के बेडरूम का निर्माण घर के दक्षिण पश्चिम कोने में किया जाना चाहिए। साथ ही, बेडरूम चौकोर आकार का होना चाहिए। क्योंकि अन्य किसी आकार के कमरे विशेष रूप से त्रिकोणीय, रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकते हैं या रिश्ते में तनाव पैदा कर सकते हैं।
कपल को कभी भी बेड पर इस तरह नहीं सोना चाहिए कि उनके पैर दरवाजे के एकदम सामने हों। यह स्थिति प्रेमी युगल और उनके बंधन में चिंता और घबराहट के अनुपात को बढ़ा सकती है। साथ ही बिस्तर या बेड को कभी भी बीम या खंभे के नीचे नहीं लगाना चाहिए। अन्यथा संघर्ष, तकरार और यहां तक ​​कि जुदाई की स्थितियां भी बन सकती हैं।
सोते समय कपल को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनका सिर दक्षिण दिशा में रहना चाहिए। इससे रिश्ते में शांति और खुशी आती है। यदि संभव हो तो आपको अपने डबलबेड के लिए एक ही गद्दा चुनना चाहिए। नहीं तो बेड पर मोटी बेडशीट बिछानी चाहिए। जहां तक संभव हो सके कपल को अलग-अलग बेड पर सोने से बचना चाहिए।
सोने के लिए इस्तेमाल किया गया बिस्तर और एक कमरे में अटैच्ड टॉयलट का दरवाजा एक दूसरे के आमने-सामने नहीं होना चाहिए। इस तरह का प्लेसमेंट रिश्ते में भावनात्मक पीड़ा को आमंत्रित कर सकता है।
बेडरूम की दीवारों पर हल्के हरे, हल्के गुलाबी या नीले जैसे रंगों का उपयोग उचित है। हालांकि एक कमरे के अंदरूनी हिस्सों में कुल रंग का लगभग 13% रंग लाल हो तो शुभ रहता है। कहा जाता है कि लाल रंग सेक्शुअल लाइफ को उत्तेजित करता है। लेकिन कमरे को पूरा लाल रंग में रंगने से बचें, इससे तकरार बढ़ सकती है।
कपल को एक अच्छे फ्रेम में अपनी फोटो लगाकर बेडरूम में रखनी चाहिए, इसे अपनी लव-लाइफ में प्रेम बढ़ाने के लिए बेड के पीछे की दीवार पर या सोने के बेड के काउंटर पर रखना चाहिए। बेडरूम में कलरफुल क्रिस्टल रखें इससे आपके बेडरूम का आकर्षण तो बढ़ता ही है, साथ ही भावनात्मक और बौद्धिक जीवन को स्थिर करने में मदद मिलती है।