Ntv time deepak tiwari

देश के तीन राज्यों में एक बार फिर से जहरीली शराब ने कहर बरपाया है. बिहार, यूपी और उत्तराखंड में दो दर्जन से ज्यादा लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई. जिसकी वजह से हाहाकार मच गया है. यूपी सरकार ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं तो बिहार और उत्तराखंड सरकार भी कार्रवाई कर रही हैं. अभी तक कुल 37 लोग मौत नींद सो चुके हैं. मृतकों में उत्तराखंड के 13, सहारनपुर में देवबंद के 16 और कुशीनगर के 8 लोग शामिल हैं.

देवबंद में 5 की मौत

सबसे पहले बात करें यूपी की तो सहारनपुर जिले के देवबंद इलाके में कच्ची शराब पीने से 16 लोग मौत के मुंह में समा गए, जबकि 10 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है. सभी को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस घटना से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. मुख्यमंत्री की तरफ से मृतकों के परिवार को 2 लाख रुपये व इलाज करवा रहे प्रभावित लोगों के परिवार को 50 हजार रुपये की मदद राशि देने का ऐलान किया है. साथ ही पुलिस प्रशासन व आबकारी विभाग को अवैध शराब के खिलाफ लगातार 15 दिनों तक संयुक्त अभियान चलाने के आदेश दिए हैं.

कुशीनगर में गई 8 की जान

उत्तर प्रदेश के ही कुशीनगर में जहरीली शराब की वजह से दो दिन पहले 8 लोगों की मौत हो गई थी. इस मामले में सूबे की योगी सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही एक आबकारी अधिकारी और चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. इस घटना के बाद जिले के अधिकारी सतर्क हो गए हैं.

 

रूड़की में 7 लोगों की मौत

इसी तरह से उत्तराखंड के रूड़की में जहरीली शराब पीने से 13 लोगों की मौत हो गई है. जिसकी वजह से कई गांवों में मातम पसरा हुआ है. कुल मिलाकर पूरे राज्य में कच्ची शराब ने करीब दो दर्जन लोगों की जान ले ली है. मामला संज्ञान में आने के बाद उत्तराखंड सरकार ने आबकारी विभाग के 13 अधिकारियों और कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है. साथ ही रूड़की क्षेत्र के झबरेड़ा पुलिस थाने के प्रभारी प्रदीप मिश्रा समेत 4 पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है. उधर, बिहार से भी ऐसी ख़बरे आ रही हैं, जहां कच्ची शराब ने कहर बरपाया है.