ntv time deepak tiwari
 
कर्नाटक के सकलेशपुर में सड़क किनारे लोगों को खाना खिलाने वाली दो महिलाओं की दुकान बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने आग लगाकर जला डाली. बताया जा रहा है कि बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को शक था कि महिलाएं बीफ परोस रही हैं. इसलिए उन्होंने पहले आकर तोड़फोड़ की फिर टेंट को आग लगा दी.

पुलिस के मुताबिक, सकलेशपुर में 70 वर्षीय खामुरुनिस्सा और उसकी बहू शमीम सड़क किनारे टेंट लगाकर लोगों को खाना खिलाती थीं. 31 जनवरी को बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ता खामुरुनिस्सा की दुकान पर पहुंचे और बीफ परोसने की बात कहकर विवाद करने लगे. कुछ देर बार उन्होंने सामान फेंकना शुरू कर दिया और दुकान में आग लगा दी.


इस बारे में एसपी एएन प्रकाश गोड़ा ने बताया कि पीड़ित महिला शमीम की शिकायत मिलने के बाद हमने बजरंग दल के पांच कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. उनकी पहचान कार्तिक, दीपू, प्रताप, रघु के तौर पर हुई है. आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है.

 

एसपी एएन प्रकाश गोड़ा ने आगे बताया कि इस तरह किसी गरीब की दुकान उजाड़ना सही बात नहीं है. जांच में हमें बीफ नहीं मिला है. आरोपियों पर जल्द कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल पुलिस ने आईपीसी की धारा 323, 354, 427, 436 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है. जांच की जा रही है.

वहीं, खामुरुनिस्सा ने कहा कि हमारा लोगों को खाना खिलाकर गुजारा होता था. लेकिन हमारी दुकान को जला डाला. अब हमारे पास कुछ नहीं बचा. हम पहले भी पुलिस के पास गए थे पर शिकायत दर्ज नहीं की गई. लेकिन बाद में पुलिस ने हमारी स्थिति जाकर मदद की. हम लोगों को चिकन-मटन खिलाते हैं. बीफ बेचने के आरोप गलत है.