Ntv time deepak tiwari

ब्रिटेन की 14 वर्षीय किशोरी की आत्महत्या के लिए सोशल मीडिया को दोषी ठहराए जाने के बाद इंस्टाग्राम ने यह फैसला किया है।
वाशिंगटन, एजेंसी। सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम ने खुद को नुकसान पहुंचाने से जुड़े ग्राफिक इमेज को प्रतिबंधित कर दिया है। ब्रिटेन की 14 वर्षीय किशोरी की आत्महत्या के लिए सोशल मीडिया को दोषी ठहराए जाने के बाद इंस्टाग्राम ने यह फैसला किया है। 2017 में मॉली रसेल ने आत्महत्या कर ली थी। हाल में ही उनके पिता इयान रसेल ने इसके लिए इंस्टाग्राम पर मौजूद खुद को काटने, आत्महत्या करने या डिप्रेशन से जुड़े कंटेंटों को जिम्मेदार बताया था।

 

कंपनी के प्रमुख एडम मोजरी ने कहा, 'काटने या आत्महत्या की तस्वीरों व वीडियो पर रोक लगाई गई है। भरे हुए घाव या उसके निशान की तस्वीरों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा लेकिन उन तस्वीरों को हैशटैग व सर्च रिजल्ट से हटा दिया जाएगा ताकि उन्हें आसानी से ढूंढा नहीं जा सके।'

मोजरी ने बताया कि आत्महत्या मामलों के विशेषज्ञों की सलाह पर यह कदम उठाया गया है। घाव भरने की तस्वीरों पर प्रतिबंध लगाने से उन लोगों के मनोबल को धक्का पहुंच सकता है जो किसी बीमारी से लड़ रहे हैं। वह उन तस्वीरों के माध्यम से ही अपना संघर्ष साझा कर पाते हैं।

मोजेरी के मुताबिक नए बदलावों को लागू होने में कुछ दिन का समय लगेगा। इंस्टाग्राम की मालिकाना कंपनी फेसबुक भी अपने प्लेटफॉर्म पर इन बदलावों को लागू करेगी।

बता दें कि 2017 में कई लोगों ने आत्महत्या करते हुए फेसबुक पर अपना लाइव वीडियो बनाया था। उसके बाद फेसबुक को सुसाइड प्रीवेंशन प्रोग्राम लागू करना पड़ा था। इसके तहत कंपनी किसी संभावित आत्महत्या का पता चलने पर स्थानीय एजेंसियों को सूचित करती है।