अम्बाला (हरियाणा ब्यूरो) पूजा शर्मा NTV TIME
 
 
 
 
हरियाणा के कलाकारों ने लहराया थाईलैंड में परचम 
नागेंद्र शर्मा को शहरवासियों ने दी बधाई।
 
अम्बाला , हरियाणा प्रदेश में कला का अभाव नहीं है, ऐसे में आए दिन हरियाणा प्रदेश के युवा कलाकार अपनी प्रतिभा का परचम देश-विदेश में लहरा रहे हैं। जहां एक ओर हरियाणवी संस्कृति को बल मिल रहा है, वहीं सांस्कृतिक धरोहर के रुप में भी पहचान मिल रही है। 
             ऐसे में ही हरियाणा के कलाकारों ने थाईलैंड में अपनी प्रतिभा को दिखाकर भारत का नाम रोशन किया है।  थाईलैंड के बैंकांक में चल रहे 17वीं अंतर्राष्टीय नृत्य प्रतियोगिता में हरियाणा के अम्बाला निवासी तथा हरियाणा कला परिषद् मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर के क्षेत्रीय निदेशक नागेंद्र शर्मा व उनकी शिष्याओं ने भारतीय संस्कृति की झलक दिखाते हुए सात पुरस्कार अपने नाम किये। 
             गौरतलब है कि 3 से 7 अप्रैल तक आयोजित इस प्रतियोगिता में भारत, जापान, सिंगापुर, मलेशिया सहित कुल सात देशों के कलाकारों ने अपनी संस्कृति की छटा बिखेरी। भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए नागेंद्र शर्मा व उनके दल द्वारा राजस्थानी, हरियाणवी, पंजाबी तथा कत्थक नृत्य की प्रस्तुतियां देकर सात पुरस्कार प्राप्त किये। जहां अम्बाला की पूनम भल्ला ने राजस्थानी लोक नृत्य तथा सेमिक्लासिकल नृत्य में तीसरा स्थान प्राप्त किया, वहीं कुरुक्षेत्र की सुरभि ने पंजाबी लोक नृत्य में प्रथम तथा सेमि क्लासिकल नृत्य में दूसरा स्थान हासिल किया। 
           अम्बाला की ही सुकीर्ति शर्मा ने हरियाणवी लोक नृत्य व शुद्ध कत्थक नृत्य में दूसरा स्थान प्राप्त किया वहीं सीमा शर्मा को हरियाणवी लोक नृत्य में प्रोत्साहन पुरस्कार मिला। इतना ही नहीं नागेंद्र शर्मा को बेस्ट गुरु की उपाधि से नवाजा गया। पूरी मेहनत तथा लग्न के साथ अपनी शिष्याओं को नृत्य कौशल सिखाने के लिए नागेंद्र शर्मा को इस उपाधि से सम्मानित किया गया। थाईलैंड से लौटने पर शहरवासियों ने नागेंद्र शर्मा व उनके दल का भव्य स्वागत किया। विदेश में जाकर भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने पर खुशी व्यक्त करते हुए नागेंद्र शर्मा ने बताया कि भारत संस्कृति यात्रा 2019 के तहत सात देशों के बीच उनकी शिष्याओं ने शानदार प्रदर्शन किया है।
 
 विदेश में शिष्याओं के कारण ही उन्हें बेस्ट गुरु का खिताब हासिल हुआ है। उन्हेांने अभिभावकों का भी धन्यवाद करते हुए कहा कि अपने बच्चों के हुनर को पहचानते हुए तथा उनपर विश्वास जताते हुए अपने बच्चों को विदेश भेजा इसके लिए वे अत्यंत धन्यवादी है। नागेंद्र शर्मा ने प्रदेश की संस्कृति को जन-जन तक पहुंचाने के लिए भी लोगों को आश्वस्त किया। 
जसदीप बेदी जी, बलजीत सिंह जी, सुरेंद्र सहगल जी, अरविंद सूरी जी, नवीन चुघ, दीप्ति, रजनीश, विशाल, सूर्या, गोपिका, अनु, रजनी, अमित , रूबी, डीनो, रविन्द्र व अन्य कलाकार भी उपस्थित रहे