Saturday, July 2, 2022
Homeदेशउद्धव सरकार जाएगी या बचेगी? महाराष्ट्र की राजनीति में आज हुए ये...

उद्धव सरकार जाएगी या बचेगी? महाराष्ट्र की राजनीति में आज हुए ये 10 डेवलपमेंट, पढ़े डिटेल


मुंबई. महाराष्ट्र में राजनीतिक तस्‍वीर तेज़ी से बदल रही है. शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की नींद उड़ा दी है. शिंदे ने दावा किया है कि उनके साथ कम से कम 40 विधायक है और कई और MLA भी उनके खेमें में शामिल हो सकते हैं. सारे बागी विधायकों को रातों रात सूरत से गुवाहाटी भेज दिया गया. महा अघाड़ी सरकार के तीनों मुख्य सहयोगी एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना अलग-अलग बैठकें करने वाले हैं. लेकिन फिलहाल सुलह के संकेत नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या उद्धव सरकार जाएगी या बचेगी?

आईए एक नज़र डालते हैं इस राजनीतिक भूचाल को लेकर अब तक की 10 बड़ी बातों पर….

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र के 40 विधायक उनके साथ असम के गुवाहाटी आए हैं और वे सभी, पार्टी के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की ‘हिंदुत्व’ विचारधारा के लिए प्रतिबद्ध हैं.उन्होंने कहा कि 40 विधायक उनके साथ आए हैं लेकिन वह किसी पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं.

कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इस्तीफा दे सकते है. इससे पहले शिवसेना के नेता संजय राउत ने संकेत दिए थे कि विधानसभा भंग की जा सकती है.

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने अब से थोड़ी देर पहले दावा किया कि उनके पास 40 विधायकों का समर्थन है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 10 विधायक उनके साथ जल्द जुड़ सकते हैं. समाचार एजेंसी भाषा से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, ‘ यहां 40 विधायक मेरे साथ हैं. इनके अलावा 10 और विधायक जल्द मेरे साथ आएंगे.’

3 शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र के 40 बागी विधायकों का एक समूह बुधवार सुबह गुवाहाटी पहुंचा. यहां उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच शहर के बाहरी इलाके में एक लग्ज़री होटल में ले जाया गया है. हवाई अड्डे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद पल्लब लोचन दास और सुशांत बोरगोहेन ने इन बागी विधायकों का स्वागत किया.

महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम के देखते हुए बीजेपी ने महाराष्ट्र के दो केंद्रीय मंत्रियों को तुरंत मुंबई बुलाया है. ये हैं पंचायती राज राज्यमंत्री कपिल मोरेश्वर पाटील और वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड.

महाराष्ट्र कांग्रेस पर्यवेक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा‘आज देश में सौदे की राजनीति हो रही है. मध्य प्रदेश का उदाहरण आप जानते हैं. ये राजनीति हमारे संविधान के विपरीत है और भविष्य के लिए खतरे की बात है. शिवसेना को खुद तय करना है कि वे अपने विधायकों से कैसे बात करेंगे. कांग्रेस के विधायक बिकाऊ नहीं हैं.’

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के महाराष्ट्र के कुछ बागी विधायकों के साथ गुवाहाटी चले जाने के बीच पार्टी सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि वह शिंदे के साथ संवाद कर रहे हैं और अभी तक हुई बातचीत ‘‘सकारात्मक’’ रही है. राउत ने विश्वास जताया कि शिंदे तथा अन्य बागी विधायक पार्टी के साथ आ जाएंगे.

एकनाथ शिंदे ने न्यूज 18 से फोन पर बातचीत की. उन्होंने कहा. ‘हम लोग शिव सेना में है हम बालासाहब के शिवसैनिक हैं. हम उनकी हिंदुत्व की लाइन को फॉलो कर रहे है. हम उनके हिंदुत्व के एजेंडे को आगे लेकर जाएंगे’.

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच शिवसेना के विधायक प्रताप सरनाइक ने बुधवार को एक बार फिर कहा कि पार्टी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ संबंधों को फिर से मजबूत करना चाहिए.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक MLC चुनाव के दौरान दो दिन पहले एकनाथ शिंदे की आदित्य ठाकरे और शिवसेना सांसद संजय राउत के साथ तीखी बहस हो गई थी. अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि शिवसेना कांग्रेस पार्टी के लिए एक्सट्रा वोट का इस्तेमाल करना चाहते थे. जिसका शिंदे ने विरोध किया.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : June 22, 2022, 13:42 IST



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments