Thursday, June 30, 2022
Homeदेशजोधपुर रेल मंडल के इतिहास में पहली बार 130 किमी की स्पीड...

जोधपुर रेल मंडल के इतिहास में पहली बार 130 किमी की स्पीड से दौड़ी ट्रेन, संभावनाओं के द्वार खुले


रंजन दवे.

जोधपुर. उत्तर-पश्चिम रेलवे (North western railway) के जोधपुर मंडल में बिछाई गई नई रेल लाइन पर मंगलवार को ट्रेन को 130 की स्पीड से दौड़ाकर सफल रन ट्रायल (successful run trial) किया गया. सामान्य तौर पर इस ट्रैक पर ट्रेन की स्पीड 60 से 80 और अधिकतम 100 किलोमीटर प्रति घंटा रहती है. लेकिन अब नए ट्रेक पर 130 किलोमीटर प्रति घंटा रफ्तार से ट्राइल सफल होने के बाद उम्मीद यह की जा रही है कि भविष्य में ट्रेनों के स्पीड में संचालन होने का रास्ता भी खुल गया है. भविष्य में ट्रेन के एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पहुंचने के समय में कमी आएगी.

जोधपुर डीआरएम गीतिका पांडे ने बताया कि जोधपुर मंडल में फुलेरा से राई का बाग (जोधपुर) तक 254 किलोमीटर ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य तेजी से करवाया जा रहा है. इसमें खारिया खंगार-पीपाड़ रोड़ जंक्शन तक 30 किलोमीटर रेल खंड के दोहरीकरण के कार्य पूरा हो गया है. इसके साथ ही अब तक 160 किलोमीटर रेल खंड पर दोहरीकरण का कार्य पूर्ण करवाया जा चुका है. चरणबद्ध तरीके से शेष कार्य भी निर्धारित समय अवधि में पूरा करवाने का प्रयास किया जाएगा.

यात्री सुविधाओं के विस्तार के निर्देश
जोधपुर पश्चिम क्षेत्र के संरक्षा आयुक्त आर के शर्मा ने खारिया खंगार से पीपाड़ रोड के मध्य करवाए गए दोहरीकरण कार्य का मंगलवार को निरीक्षण किया. संरक्षा आयुक्त जोधपुर मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सीआरएस स्पेशल ट्रेन से खारिया खंगार रेलवे स्टेशन पंहुचे. बाद में मोटर ट्रॉली से खारिया खंगार से पीपाड़ रोड तक सघन निरीक्षण किया. उन्होंने 30 किलोमीटर मार्ग पर कराए गए दोहरीकरण कार्य के साथ खंड के खारिया खंगार, उम्मेद, साथिन रोड और पीपाड़ स्टेशनों का भी निरीक्षण किया. उन्होंने उपलब्ध यात्री सुविधाओं का बारीकी से जायजा लिया और उनके विस्तार के निर्देश दिये.

जोधपुर मंडल में दोनों तरफ चल रहा है कार्य
दरअसल जोधपुर में एक तरफ अहमदाबाद की ओर जाने वाले मार्ग पर इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है. वहीं जयपुर की ओर जाने वाले मार्ग पर रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य चल रहा है. फुलेरा से जयपुर तक पहले से ही डबल ट्रैक बना हुआ है. इस रेल खंड पर ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य पूरा होने से ट्रेनों के संचालन समय में कमी आएगी. क्रॉसिंग में लगने वाले समय में बचत होगी. इसके साथ ही सवारी गाड़ियां समय पर अपने गंतव्य स्थल को पहुंच सकेगी. मालगाड़ियों का संचालन भी सुगम होगा और वे निर्धारित स्टेशनों तक जल्दी पंहुच सकेगी.

Tags: Indian Railway news, Irctc, Jodhpur News, Rajasthan news



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments