Tuesday, June 28, 2022
Homeदेशटैटू देखकर वोट डालेगा युवा मतदाता, MP निकाय चुनाव में 'यंगिस्तान' को...

टैटू देखकर वोट डालेगा युवा मतदाता, MP निकाय चुनाव में ‘यंगिस्तान’ को लुभाने का नया फंडा


इंदौर. मध्यप्रदेश में चल रहे नगरीय निकाय चुनाव में युवाओं के बीच अब टैटू का टशन दिखाई दे रहा है. युवाओं ने चुनाव प्रचार का ये अनोखा तरीका खोज निकाला है. वे अपने शरीर पर पसंदीदा नेताओं के फोटो और पार्टी के चिन्ह बनवाकर प्रचार के लिए निकल रहे हैं. नगर निगम चुनाव का ये अनूठा रंग युवाओं पर सिर चढ़कर बोल रहा है. सियासी दलों के झंडे-बैनर के साथ-साथ इस चुनावी मौसम में सियासत के टैटू वाले रंग भी दिखाई दे रहे हैं. देश के सबसे साफ-सुथरे शहर इंदौर में सियासी पार्टियों के युवा समर्थकों ने चुनाव प्रचार का ये नया तरीका खोज निकाला है.

युवा कार्यकर्ता अपनी पार्टी और प्रत्याशी के समर्थन में शरीर पर टैटू बनवा रहे हैं. दीवानगी ऐसी कि बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता कमल का फूल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फेस बनवा रहे हैं. वहीं युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता हाथ का निशान और राहुल गांधी के टैटू बनवा रहे हैं. सबसे ज्यादा क्रेज पीएम मोदी का है. पॉलिटिकल सिंबल के टैटू बनवाने में युवतियां भी पीछे नहीं है. रोज सैकड़ों की संख्या में युवतियां टैटू बनवाने पहुंच रहीं हैं. यूथ कांग्रेस से जुड़ीं राजनंदिनी जायसवाल का दावा है कि लड़कियां कांग्रेस को बढ़ चढ़कर सपोर्ट कर रहीं हैं. अभी तक 50 लड़कियों ने टैटू बनवाकर कांग्रेस का समर्थन किया है.

टैटू बनवाने के पीछे नेताओं के तर्क

यूथ कांग्रेस इंदौर के महासचिव अरशद खान का कहना है कि हम अपनी पार्टी के प्रमोशन के सारे तरीके अपना रहे हैं. युवाओं के बीच टैटू का काफी क्रेज है, इसलिए हम लोग युवाओं को आकर्षित करने के लिए गर्दन, हाथ, कोहनी, पीठ और सीने पर कलरफुल सिंबल और स्लोगन बनवा रहे हैं. जहां पार्टी के हार्डकोर कार्यकर्ता राहुल गांधी के फोटो बनवा रहे हैं, तो कई लोग जिन्होंने कोरोना काल में कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला को काम करते देखा हैं. वे उनसे प्रभावित होकर उनका फोटो बनवा रहे हैं. पॉलिटिकल प्रमोशन में ये पहली बार देखा जा रहा है कि टैटू के जरिए यूथ अपने आपको पार्टी और कैंडीडेट से कनेक्ट कर रहा है.

बीजेपी के युवा भी पीछे नहीं हैं, उनमें सबसे ज्यादा क्रेज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर है. इसलिए वे प्रधानमंत्री के फोटो अपने शरीर पर बनवा रहे हैं. बीजेपी युवा मोर्चा से जुड़े ऋषभ बागोरा का कहना है कि हमारी पार्टी की टैग लाइन है कि हमारा प्रत्याशी कमल का फूल, इसलिए हम लोग कमल का फूल अपने शरीर पर बनवाकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं. हमारा कैंडिडेट पुष्यमित्र भार्गव भी युवा है, इसलिए युवा पूरे जोश के साथ चुनाव में सहभागिता कर रहे हैं और वे टैटू के जरिए उनको प्रमोट भी कर रहे हैं.

आर्टिस्ट्स ने इसलिए बदली डिजाइन

उधर कोरोना काल के बाद व्यापारिक मंदी से जूझ रहे टैटू आर्टिस्ट भी अब धार्मिक चिन्ह और मॉडर्न आर्ट छोड़कर कार्यकर्ताओं के हाथ से लेकर कंधे-चेहरे और गालों पर चुनाव चिन्ह बनाने में लगे हुए हैं. टैटू आर्टिस्ट की भी इस चुनावी सीजन में चांदी हो रही है. यही वजह है कि रेगुलर टैटू के बीच अब टैटू आर्टिस्ट चुनावी टैटू डिजाइन करने में जुटे हुए हैं. टैटू आर्टिस्ट कृष्णा तंवर का कहना है कि चुनावी माहौल में अभी टैटू बनाने का क्रेज अचानक से बढ़ गया है. युवा परमानेंट टैटू भी बनवा रहे है जिससे वे अपने नेता का लाइफ टाइम सपोर्ट कर सकें.

100 से 500 रुपए में बनते हैं टैटू

इंदौर की टैटू डिजाइनर मानसी का कहना है कि आमतौर पर टैटू के शौकीन युवा परमानेंट टैटू बनवाते हैं. लेकिन चुनावी मौसम में जो टैटू बनवाए जा रहे हैं, वो टेंपरेरी हैं. 8 से 15 दिन तक बने रहने वाले टैटू 100 रुपये से लेकर 500 रुपये तक बनाए जा रहे हैं. इन टैटू की खास बात ये है कि जब चाहे इन्हें मिटाया जा सकता है. नगरीय निकाय चुनाव की वजह से इलेक्शन के लोगों वाले टैटू बहुत ज्यादा ट्रेंड कर रहे हैं. ये यंगस्टर को अट्रेक्ट करता है, इसलिए ये प्रमोट करने का सबसे अच्छा तरीका है. बहरहाल, अपने शौक को अलग अंदाज में दर्शाने वाले जुनूनी युवा इन दिनों राजनीति में भी कुछ नया ट्रेंड सेट करना चाहते हैं. इसके लिए टैटू का सहारा लिया जा रहा है. युवाओं का प्रचार का ये तरीका खूब भा रहा है.

Tags: BJP Congress, Mp news, Nagar nikay chunav



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments