न मैं किसी से डरता हूं, न किसी को मुझसे डरने की जरूरत- शशि थरूर – why congress leader shashi tharoor say neither was he afraid of anyone nor should anyone fear him nodmk3 – News18 हिंदी

0
21


मलप्पुरम (केरल). मालाबार दौरे को लेकर पार्टी के अंदर मची हलचल और उन्हें मिल रहे समर्थन से अप्रभावित दिख रहे कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया है. थरूर मालाबार यात्रा को जारी रखते हुए यूडीएफ के सहयोगी आईयूएमएल के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की और कहा कि उन्हें किसी से डर नहीं है. साथ ही किसी को उनसे भी डरने की जरूरत नहीं है. शशि थरूर ने कहा, ‘मैं किसी से नहीं डरता और किसी को मुझसे डरने की कोई जरूरत नहीं है.’ उन्होंने यह भी कहा कि उनकी केरल कांग्रेस में कोई गुट बनाने में दिलचस्पी नहीं है.

तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर की टिप्पणी उन अटकलों के बीच महत्व रखती है कि केरल में कांग्रेस नेतृत्व का एक वर्ग उनके बढ़ते समर्थन और राज्य में पार्टी के भीतर ‘थरूर गुट’ के उभरने से आशंकित होता है. बता दें कि साल 2016 में कांग्रेस के हाथ से सत्‍ता चली गई थी. ऐसे में पार्टी के अंदर नया गुट बनने से दिक्‍कतें और बढ़ सकती हैं. थरूर ने हालांकि पनक्कड़ में सादिक अली शिहाब थंगल के आवास पर आईयूएमएल नेताओं के साथ अपनी बैठक को यह कहकर ज्यादा महत्व नहीं दिया कि यह जिले में एक कार्यक्रम के लिये जाते समय हुई सिर्फ एक शिष्टाचार भेंट थी.

थरूर के साथ लिटरेचर इवेंट में महिला ने फोटो खिंचवाईं, लेकिन करनी पड़ी डिलीट, वजह है शर्मनाक! 

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि शशि थरूर के दौरे में कुछ भी असामान्य नहीं है. उन्‍होंने बताया कि जब भी वह इस क्षेत्र से गुजरते हैं तो थंगल से मुलाकात जरूर करते हैं. शशि थरूर ने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा कि कांग्रेस के अंदर एक और गुट बनाने का उनका कोई इरादा नहीं है. कांग्रेस सांसद ने कहा कि अगर एक अक्षर होना है, तो वह एक संयुक्त कांग्रेस के लिए ‘U’ होना चाहिए, जिसकी हम सभी को जरूरत है. थरूर ने कहा कि यूडीएफ के दो सांसदों के एक सहयोगी दल के नेताओं से मिलने में कोई बड़ी बात देखने की जरूरत नहीं है.

थरूर ने आगे कहा कि ऐसे समय में जब देश में विभाजनकारी राजनीति सक्रिय है, ऐसी राजनीति की जरूरत है जो सभी को एक साथ लाए. उन्‍होंने कहा कि यह प्रशंसनीय है कि आईयूएमएल ने हाल ही में चेन्नई, बेंगलुरु और मुंबई में भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए. थरूर से मुलाकात के बाद थंगल ने कहा कि थरूर का उनके परिवार के साथ घनिष्ठ संबंध रहा है. थंगल ने आगे कहा कि उन्हें सभी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों, अवसरों पर आमंत्रित किया जाता है, इसलिए जब वह यहां थे तो वह हमसे मिलने आए. यह पूछे जाने पर कि क्या वह चाहते हैं कि थरूर केरल की राजनीति में सक्रिय रहें, उन्होंने कहा कि वह पहले से ही सक्रिय हैं. वह केरल से सांसद हैं.

Tags: Congress Leader Shashi Tharoor, Indian National Congress, Kerala congress



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here