Saturday, July 2, 2022
Homeदेशराजस्थान: मंदिर के पुजारी की निर्मम हत्या, मूर्ति चुराने आये चोरों का...

राजस्थान: मंदिर के पुजारी की निर्मम हत्या, मूर्ति चुराने आये चोरों का किया था विरोध, आक्रोश फैला


बूंदी. कोटा संभाग के बूंदी जिले में दिल को दहला (Heart-wrenching) देने वाली वारदात में चोरों ने मंदिर की मूर्ति चुराने के लिये उसके पुजारी की बेरहमी से हत्या कर डाली. बाद में मूर्ति (Idol theft) लेकर फरार हो गये. वारदात की जानकारी मिलने के बाद इलाके में आक्रोश फैल गया. सूचना पर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया. पुजारी के भांजे ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. पुलिस ने मौके से सबूत उठाये हैं. वह मामले की जांच में जुटी है. फिलहाल हत्यारों का कोई सुराग नहीं लग पाया है.

बूंदी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल ने बताया कि वारदात कोतवाली थाना इलाके में टीवी टावर पहाड़ी के पास स्थित ऐतिहासिक डोबरा महादेव मंदिर में हुई है. जंगल में स्थित इस मंदिर में सोमवार को सुबह चोर दिनदहाड़े भगवान चारभुजा नाथ की मूर्ति चोरी करने आये थे. इस पर मंदिर के पुजारी विवेकानंद शर्मा (50) ने इसका विरोध किया. चोरों ने पुजारी को रास्ते से हटाने के लिये उससे मारपीट की. बाद में चाकुओं से ताबड़तोड़ वारकर उसे गोद डाला. इससे पुजारी खून से लथपथ होकर वहीं गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई.

हत्या की वारदात सुबह हुई थी
उसके बाद हत्यारों ने पुजारी के शव को घसीट कर एक तरफ कर दिया और चारभुजा नाथ की मूर्ति उठाकर ले गये. पुजारी के भांजे अभिषेक बृजवासी ने बताया की उसके मामा रोजाना सुबह 9 बजे भगवान के सामने भोग रखते थे. उसके एक घंटे बाद उसे ग्रहण करते थे. सोमवार को भगवान के सामने रखा गया भोग उठाया हुआ नहीं था. इससे जाहिर होता है कि उनकी हत्या सुबह के समय की गई थी.

पुलिस अधीक्षक भी पहुंचे मौके पर
हत्या की सूचना पर एएसपी किशोरी लाल, डीएसपी हेमंत नोगिया और कोतवाल सहदेव मीणा पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. एमओबी और एफएसएल टीम ने भी मौके पर पहुंचकर वारदात स्थल का बारीकी से निरीक्षण करके वहां से सबूत एकत्र किये. बाद में पुलिस अधीक्षक जय यादव घटनास्थल पहुंचे और हालात का जायजा लिया. कोटा से डॉग स्कवॉयड की टीम को बुलवाया गया.

वर्ष 1917 में भी मूर्ति चुरा ली गई थी
कोतवाली पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ हत्या और चोरी का मामला दर्ज किया है. वह पूरे मामले की जांच में जुटी है. बताया जा रहा है कि मंदिर से पहले भी एक बार 1917 मूर्ति चुरा ली गई थी. इसके बाद मूर्ति को यहां पुर्नस्थापित किया गया था. अब चोर दूसरी मूर्ति को भी चुरा ले गये.

Tags: Bundi, Crime News, Murder case, Rajasthan news



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments