Thursday, June 30, 2022
Homeदेशराज्यसभा चुनाव: बाड़ाबंदी में लक्ष्य के करीब पहुंच रहे गहलोत, सुभाषचन्द्रा की...

राज्यसभा चुनाव: बाड़ाबंदी में लक्ष्य के करीब पहुंच रहे गहलोत, सुभाषचन्द्रा की बढ़ रही मुश्किलें


भवानी सिंह.

जयपुर. राजस्थान में राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) का दंगल रोचक हो गया है. कांग्रेस और बीजेपी के बाड़ाबंदी के खेल में दोनों खेमे विधायकों का अपना-अपना कुनबा बढ़ाने के लिये पुरजोर कोशिश कर रहे हैं. बाड़ाबंदी के इस खेल में सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) अपने लक्ष्य के करीब पहुंचने वाले हैं. इससे बीजेपी समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी सुभाषचन्द्रा की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है. कांग्रेस के बाद अब बीजेपी ने भी अपने विधायकों की बाड़ाबंदी कर दी है. वह भी अपने 60 विधायकों को लेकर राजधानी जयपुर के नजदीक जामड़ोली में स्थित एक होटल में पहुंच गई है.

कांग्रेस ने अपने विधायकों की बाड़ाबंदी उदयपुर में एक लग्जरी होटल में कर रखी है. कांग्रेस की ओर से दावा किया जा रहा है कि उसके पास 112 विधायक यहां पर हैं. शेष भी जल्द ही पहुंच जायेंगे. कांग्रेस की बाड़ाबंदी में सोमवार दोपहर तक 108 विधायक थे. लेकिन रात होते-होते इनकी संख्या 112 तक पहुंचने का दावा किया जा रहा है. अब तक बाड़ाबंदी से बाहर चल रहे कांग्रेस विधायक राजेन्द्र विधूड़ी और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा भी उदयपुर पहुंच गये हैं. अब कांग्रेस के कुछ विधायकों के अलावा पांच ऐसे विधायक हैं जो अभी इस बाड़ाबंदी में नहीं आये हैं.

ये विधायक हैं अभी बाड़ाबंदी से बाहर
इनमें निर्दलीय विधायक बलजीत यादव समेत बीटीपी और माकपा के दो-दो विधायक शामिल हैं. कांग्रेस का दावा है कि ये भी जल्द ही उनके पास पहुंच जायेंगे. बाड़ाबंदी से बाहर रह रहे कांग्रेस के विधायक भवंरलाल शर्मा, दीपेन्द्र सिंह, भरत सिंह कुंदरपुर, विश्वेद्र सिंह, रमेश मीणा, मुराली लाल मीणा और दयाराम परमार हैं. इनमें से कुछ की तबीयत नासाज है और कुछ अन्य कारणों से वहां नहीं पहुंच पाये हैं. लेकिन ये सभी वे विधायक हैं जो बाड़ाबंदी में नहीं होने के बावजूद पार्टी लाइन से परे जाकर कुछ भी नहीं करेंगे.

कांग्रेस का फोकस इन पांच विधायकों पर है
लिहाजा कांग्रेस का फोकस बीटीपी और माकपा के दो-दो विधायकों समेत निर्दलीय विधायक बलजीत यादव पर है. अगर ये सब कांग्रेस की बाड़ाबंदी में आ जाते हैं तो कांग्रेस के पास कुल 126 विधायक हो जायेंगे. जबकि उसे तीन प्रत्याशियों को जिताने के लिये प्रथम वरीयता के 41-41 मतों के हिसाब से कुल 123 वोट चाहिये. कांग्रेस अपने खेमे में 108 खुद के, सरकार में शामिल आरएलडी विधायक सुभाष गर्ग, 13 निर्दलीय और बीटीपी तथा माकपा के चारों विधायकों को जोड़कर चल रही है.

बीजेपी ने भी की अपने विधायकों की बाड़ाबंदी
अगर कांग्रेस अपने तय लक्ष्य तक पहुंच जाती है तो निर्दलीय प्रत्याशी सुभाषचन्द्रा की मुश्किलें बढ़ना तय है. हालांकि बीजेपी की ओर से दावा किया जा रहा है कि कुछ विधायक उसके संपर्क में हैं. लेकिन इससे इतर कांग्रेस लगातार अपना कुनबा बढ़ाने में जुटी है. राज्यसभा चुनाव में अब क्रास वोटिंग का डर कांग्रेस के बाद बीजेपी को भी सताने लगा है. लिहाजा वह भी सोमवार को अपने सभी विधायकों को लेकर एक होटल में जा बैठी है.

Tags: Ashok gehlot, BJP Congress, Rajasthan news, Rajya Sabha Elections



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments