Monday, September 26, 2022
Homeदेशरोहिंग्या लड़कियों की मंडीः म्यांमार से 15 हजार में खरीदकर जम्मू-कश्मीर में...

रोहिंग्या लड़कियों की मंडीः म्यांमार से 15 हजार में खरीदकर जम्मू-कश्मीर में ढाई लाख में बेचा, मानव तस्करी का बड़ा खुलासा


हाइलाइट्स

आरोपी अब्दुल शकूर नेपाल के रास्ते मानव तस्करी को दे रहा था अंजाम
फिर नई लड़की को लेकर पहुंचा था आरोपी, नहीं बोल पा रही थी हिंदी

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मानव तस्करी से जुड़े एक बड़े रैकेट का खुलासा किया है. यह रैकेट रोहिंग्या लड़कियों को जम्मू-कश्मीर में बेचता रहा है. पुलिस ने जम्मू के सिद्दडा इलाके में एक रोहिंग्या को पुरानी करंसी नोटों के साथ गिरफ्तार किया था, लेकिन पूछताछ के दौरान उसने जो कबूल किया है उससे पुलिस भी हैरान रह गई.

जानकारी के मुताबिक म्यांमार के रहने वाले अब्दुल शकूर को पुलिस ने उस समय पकड़ा जब वह पुराने करंसी नोट लेकर जा रहा था. पुलिस की पूछताछ में उसने कबूला है कि वह म्यांमार से 10-15 हजार में लड़कियों को खरीदता और फिर उनको जम्मू- कश्मीर में दो से ढाई लाख रुपये में बेच देता है. पुलिस ने अब्दुल शकूर पर अवैध रूप से रोहिंग्याओं को देश में लाने और बाहर ले जाने का मामला दर्ज किया है. अब्दुल शकूर म्यांमार से कई लोगों को भारत ला चुका है.

आरोपी अब्दुल शकूर नेपाल के रास्ते मानव तस्करी को दे रहा था अंजाम  
पुलिस सूत्रों के अनुसार अब्दुल शकूर नेपाल के रास्ते इन लोगों को भारत लाता और फिर जम्मू-कश्मीर पहुंच जाता. कुछ लोगों को यहां से म्यांमार भी भेज चुका है. सूत्रों का कहना है कि म्यांमार से लायी गयी लड़कियों की शादी यहां पर स्थानीय और रोहिंग्या के साथ करवा चुका है. पुलिस ने इसके दो साथियों को भी हिरासत में लिया है और पूछताछ जारी है.

कई रोहिंग्या अवैध तरीके से रहकर पुलिस को दे रहे चुनौती
गौरतलब है कि म्यांमार से काफी अवैध तरीके से रोहिंग्या जम्मू व आस पास के इलाकों में रहते हैं और पुलिस को जब भनक लगती है तो वह पहले ही इधर उधर भाग निकलते हैं. हालांकि जिन लोगों के पास यूएनओ के कार्ड हैं, उनकी संख्या भी बहुत है. कई रोहिंग्या इस समय जिला कठुआ के हीरानगर डिटेंशन सेंटर में हैं.

फिर नई लड़की को लेकर पहुंचा था आरोपी, नहीं बोल पा रही थी हिंदी
सिद्दडा पुलिस काफी समय से अब्दुल शकूर पर नजर रखे हुए थी, क्योंकि अक्सर ये गायब रहता था. कुछ दिन पहले पुलिस को पता चला कि ये एक फिर नई युवती को लेकर पहुंचा है. युवती हिंदी व स्थानीय भाषा नहीं बोल पाती थी. अचानक युवती गायब हो गई. तभी पुलिस ने इसको पकड़ा. हालांकि इसके दो साथियों फरीद आलम और यासीन को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. ये लोग म्यांमार में गरीब परिवारों की लड़कियों को लाकर यहां पर महंगे दाम पर बेचते थे.

Tags: Human trafficking, Jammu kashmir news



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments