Bharat Jodo Yatra : राहुल गांधी के आरएसएस पर नये बयान से छिड़ा विवाद, बीजेपी ने जताया एतराज

0
14


खंडवा. भारत जोड़ो यात्रा लेकर मध्य प्रदेश आए कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नये बयान पर विवाद खड़ा हो गया है. खंडवा में मामा टंट्या भील की जन्मस्थली पर श्रद्धासुमन अर्पित करने आए राहुल गांधी ने टंट्या भील की फांसी के लिए आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया था. इस पर बीजेपी ने गहरा एतराज जताया है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का गुरुवार को मध्य प्रदेश में दूसरा दिन था. वो खंडवा में थे. गुरुवार दोपहर विश्राम के बाद वो खंडवा के टंट्या मामा की जन्मस्थली बड़ौदा अहीर पहुंचे. राहुल गांधी ने टंट्या मामा की प्रतिमा पर पहुंचकर माल्यार्पण किया और यहां आम सभा की. अपने संबोधन में उन्होंने आरएसएस पर जमकर हमला किया. टंट्या मामा की फांसी के लिए अंग्रेजों का साथ देने का आरोप आरएसएस पर लगाया.

जय जौहार, जय आदिवासी
आदिवासी सभा में राहुल गांधी ने जय जौहार, जय आदिवासी से अपना भाषण शुरू किया. उन्होंने कहा टंट्या मामा एक सोच और विचारधारा थे उसी सोच के कारण मैं यहां आया हूं. मैं आज टंट्या मामा के बारे में पढ़ रहा था उनका जन्म 26 जनवरी को हुआ.महाराष्ट्र में मैंने अदिवासी शब्द को लेकर बात की थी.आदिवासी का मतलब यह है कि जो देश में सबसे पहले से रहते आ रहे हैं.आप आदिवासी हैं और सबसे पहले से देश में रह रहे हैं तो इसका यह अर्थ है कि आप देश के असली मालिक हैं.टंट्या मामा के बारे में जब हम सोचते हैं तो निडरता, आदिवासी, क्रांतिकारी जैसे शब्द आते हैं.जब टंट्या मामा फांसी पर चढ़ रहे थे तो उनके दिल में डर नहीं था.उनके डर को आपके प्यार ने मिटा दिया था.

आरएसएस पर सीधा हमला
राहुल गांधी ने कहा जब अंग्रेज देश में अत्याचार कर रहे थे तब आरएसएस अंग्रेजों का साथ दे रहा था. ऐसे में समझा जा सकता है कि भाजपा की यह किस तरह की दोहरी नीति है. वहीं जल, जंगल और जमीन के मुद्दे पर उन्होंने बताया कि जो पेसा कानून बनाया गया है वो आदिवासियों से उसके अधिकार को छीनने के लिए बनाया गया है ना कि अधिकार को देने के लिए.

जमीन,जल, जंगल पर आदिवासी का हक
राहुल बोले-कुछ दिन पहले मैंने पीएम का एक भाषण सुना जिसमें उन्होंने वनवासी शब्द का उपयोग किया.जमीन,जल, जंगल पर आपका हक होना चाहिए. साथ ही आपके बच्चों को डॉक्टर, इंजीनियर बनना चाहें तो सरकार को आपकी मदद करनी चाहिए.लेकिन भाजपा निजीकरण का काम कर रही है इसलिए आपको अच्छा इलाज और शिक्षा नहीं मिल पाती है. निजीकरण से सीधी चोट आदिवासियों को लगती है

नोटबन्दी-जीएसटी हथियार है
राहुल बोले वनवासी शब्द का मतलब यह है कि आप मालिक नहीं हो और जंगल में रहते हो.जंगल के बाहर आपको कुछ नहीं मिलना चाहिए, भाजपा जंगल भी उद्योगपतियों को जंगल दे रही है. जंगल कट रहे हैं और जब जंगल नहीं बचेंगे तो आपके पास कुछ नहीं बचेगा.यह भाजपा के वनवासी कहने के पीछे का अर्थ है.मैं चाहता हूं भाजपा के लोगों ने जो अपमान किया है वनवासी कहकर इसके लिए हाथ जोड़कर माफी मांगे. मांफी मांगने के बाद जो जमीन,जंगल, जल छीनने का काम करते हैं वो वापस दें.

वन वासी और आदिवासी में फर्क
राहुल गांधी बोले हमारी यहां जैसे ही सरकार आएगी हम आदिवासी शब्द का इस्तेमाल करेंगे और आपके सारे हक देंगे.अदिवासियों पर सबसे ज्यादा अत्याचार एमपी में होता है. टंट्या मामा को फांसी पर अंग्रेजों ने चढ़ाया और आरएसएस ने उनकी मदद की. यही बिरसा मुंडा के साथ भी हुआ.जब हम अंग्रेजों से लड़ रहे थे, महापुरुषों को फांसी दी जा रही थी तब आरएसएस अंग्रजों के साथ खड़ा था.वनवासी शब्द आपको खत्म करने का शब्द है और आदिवासी शब्द आपको हक दिलाने का शब्द है.

दिग्विजय सिंह ने सावरकर को कोड किया
भारत जोड़ो यात्रा के राष्ट्रीय प्रभारी दिग्विजय सिंह ने कहा-आदिवासी ही देश के मूल निवासी हैं. हम सभी साउथ एशिया से आये हैं. दिग्विजय बोले हिदुत्व का धर्म से कोई लेना देना नहीं है. यह खुद सावरकर ने कहा है -हिंदुत्व एक आइडेंटिटी सिर्फ है.भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है.सिर्फ लूटो खाओ चल रहा है. दिग्विजय सिंह केजरीवाल के गुजरात के खिलाफ ट्वीट पर बोले वह भाजपा की बी टीम हैं.

राहुल के बयान पर एतराज
खंडवा में दिए गए राहुल गांधी के ब्यान के बाद बयानबाजी शुरू हो गयी है. भाजपा प्रवक्ता राम दांगोरे ने कहा राहुल गांधी ने शब्दों की मर्यादा लांघी है, राहुल गांधी ने टंट्या मामा की फांसी का जिम्मेदार RSS को बताया था, फांसी के दौरान आरएसएस का अंग्रेजों का साथ देने का आरोप लगाया था.

Tags: Bharat Jodo Yatra, Khandwa news, Rahul gandhi latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here