EXCULSIVE: कोयंबटूर ब्लास्ट ISIS समर्थक द्वारा पहला आत्मघाती हमले का प्रयास, पढ़ें ये रिपोर्ट – coimbatore blast may have been first attempt of isis supporter suicide attack – News18 हिंदी

0
28


हाइलाइट्स

कोयंबटूर ब्लास्ट देश में पहला ISIS समर्थक द्वारा आत्मघाती हमले की कोशिश थी.
कार में विस्फोट होने के चलते मुबीन की मौत हो गई थी.
पुलिस ने कार से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया था.

नई दिल्ली. तमिलनाडु के कोयंबटूर जिले में मंदिर के पास हुए ब्लास्ट को लेकर एनआईए जांच में जुटी हुई है. वहीं सीएनन-न्यूज18 को जानकारी मिली है कि तमिलनाडु के कोयम्बटूर में कोट्टई ईश्वरन मंदिर के सामने हुआ विस्फोट निश्चित रूप से एक आतंकवादी हमला है और इसमें शामिल अपराधी इस्लामिक स्टेट (ISIS) से प्रेरित मॉड्यूल के सदस्य हैं. इस हमले को भारत में एक आईएसआईएस से सहानुभूति रखने वाले व्यक्ति द्वारा ‘आत्मघाती हमले’ का पहला प्रयास कहा जा सकता है.

हालांकि राहत की बात यह थी कि इस हमले में केवल एक ही व्यक्ति की मौत हुई थी, जो खुद हमलावर था. यह जानकारी जांच एजेंसी द्वारा तैयार किये गए नोट से पता चला है. सीएनएन-न्यूज18 को एक्सक्लूसिव तौर पर मिले नोट से पता चला है कि घटनास्थल पर मिले विस्फोटक से यह स्पष्ट रूप से जाहिर होता है कि हमलावर मुबीन बहुत बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में था. ताकि देश में बड़े स्तर पर जान-माल का नुकसान हो सके.

कोट्टई ईश्वरम मंदिर के अलावा कई मंदिरों की रेकी की
कोट्टई ईश्वरम मंदिर के अलावा, मुबीन और उसके सहयोगियों ने कथित तौर पर 23 अक्टूबर को कथित आत्मघाती हमले को अंजाम देने से पहले कई बार धनवंतरी मंदिर, संगमेश्वर मंदिर, पुलियाकुलम मंदिर, मुंधी विनयगर मंदिर और कोनियाम्मन मंदिर की भी कथित तौर पर रेकी की थी. जांच एजेंसी के नोट में कहा गया है कि मुबीन के घर से बड़ी मात्रा में विस्फोटक बनाने की सामग्री और हाथ से लिखे जेहादी नोट मिले हैं, जिससे उसकी शैतानी साजिश का पर्दाफाश हुआ है.

ई-कॉमर्स साइट से विस्फोट बनाने के लिए सामान की खरीदारी की
दिलचस्प बात यह देखा गया है कि मुबीन और उसके सहयोगियों ने ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से आईईडी बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले कुछ रसायनों के साथ-साथ सामान की खरीदारी भी की थी. मुबीन और उसके सहयोगी कथित तौर पर इस्लामिक स्टेट के विचारक, आत्मघाती हमलावर और श्रीलंकाई कट्टरपंथी उपदेशक ज़हरान हाशिम (कोलंबो में ईस्टर संडे सीरियल ब्लास्ट में मारे गए) से प्रेरित थे.

श्रीलंका में हुए ब्लास्ट की तरह कोयंबटूर में भी थी विस्फोट करने की प्लानिंग
उन्होंने (मुबीन और सहयोगियों) कथित रूप से इस्लामिक स्टेट के प्रति प्रतिज्ञा की और 21 अप्रैल, 2019 को श्रीलंका में हुए हमलों के अनुरूप इस हमले का प्रयास किया था. हालांकि राहत की बात यह रही कि इनका प्रयास असफल रहा. बता दें कि 23 अक्टूबर को कोयंबटूर जिले में उक्कड़म इलाके में स्थित कोट्टई ईश्वरन मंदिर के पास एक कार में विस्फोट हुआ. ब्लास्ट कार में एक युवक का जला हुआ शव मिला है. इस घटना में मंदिर के पास एक अस्थायी शेड को मामूली क्षति के अलावा कोई अन्य हताहत/चोट लगने की सूचना नहीं है.

Tags: Coimbatore news, Tamil nadu



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here