Saturday, July 2, 2022
HomeदेशMaharashtra Political Crisis: एनसीपी ने बुलाई अपने विधायको की बैठक, उद्धव सरकार...

Maharashtra Political Crisis: एनसीपी ने बुलाई अपने विधायको की बैठक, उद्धव सरकार बचाने की हर संभव कोशिश

मुंबई. महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में साझेदार एनसीपी ने आज शाम 5 बजे अपने सभी विधायकों की एक बैठक वाईबी चव्हाण सेंटर, मुंबई में बुलाई है. महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि सारे विधायको की मीटिंग बुलाई गई है. इससे पहले एनसीपी के वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक हुई. पाटिल ने बताया कि इस बैठक में तय हुआ कि सभी लोग एकजुट होकर पूरी तरह से उद्धव ठाकरे के पीछे मजबूती से खड़े रहेंगे. सरकार बचाने के लिए सभी प्रयत्न किए जाएंगे. शिवसेना को इस बाबत जो भी मदद चाहिए होगी, वह दी जाएगी.

एएनआई की एक खबर के मुताबिक एनसीपी के नेता जयंत पाटिल ने भरोसा जताया कि जो विधायक शिवसेना से टूटकर गए हैं, वो जब वापस आएंगे तो उनकी वापसी पर ही पूरी तस्वीर साफ होगी. महाराष्ट्र में राजनीतिक अस्थिरता पर एनसीपी के नेता जयंत पाटिल ने ये भी कहा कि कल कई विधायक उनसे मिले. उनमें से दो-चार विधायको ने ऐसा सोचा है कि गठबंधन की सरकार की सत्ता जा रही है. उन लोगो ने कहा कि ‘सत्ता जाना ठीक नहीं, फिर भी हम विपक्ष में बैठेने की तैयारी करें. यही एक विकल्प है.’ पाटिल ने कहा कि विपक्ष में बैठने की तैयारी नही करनी पड़ती है, ऐसी परिस्थितियां बन जाती हैं कि विपक्ष में बैठना पड़ता है.

जयंत पाटिल ने कहा कि ‘वर्षा’ बंगले में रहने के लिए उद्धव ठाकरे शुरू से ही इच्छुक नहीं थे. कामकाज आसान हो इसलिए ही वे हमारे और शिवसैनिकों के आग्रह के बाद वर्षा बंगले पर आए थे. पाटिल ने कहा कि वर्षा बंगला छोड़ना और मुख्यमंत्री पद छोड़ना दोनों बातें अलग हैं. पाटिल ने भरोसा जताया कि शिवसेना के जो विधायक गए हैं, वे आने वाले समय में वापस उनके साथ आ जाएंगे.

Maharashtra political crisis: टीएमसी ने दिखाई शिवसेना से एकजुटता, गुवाहाटी में होटल के बाहर किया प्रदर्शन

जयंत पाटिल ने कहा कि ‘जो विधायक वहां जा रहे हैं, वे क्यों जा रहे हैं, यह भी देखना होगा. क्या वे वहां परिस्थिति का जायजा लेने जा रहे हैं या वहां जो लोग पहले गए हैं, उन्हें वापस लाने के लिए जा रहे हैं. इसका पता नहीं है. इसलिए विधायक जा रहे हैं, इस पर अभी कुछ नहीं कह सकते.’ पाटिल ने कहा कि उम्मीद है कि सब लोग एक साथ रहेंगे और महा विकास अघाड़ी सरकार बची रहे, इसके लिए उद्धव ठाकरे प्रयत्न करेंगे.

जयंत पाटिल ने कहा कि मुख्यमंत्री का पद शिवसेना को दिया गया है. अब यह शिवसेना का फैसला है कि वह ये पद किसको देते हैं. आज की हकीकत यही है कि उद्धव ठाकरे उनके नेता हैं और वही मुख्यमंत्री हैं. पाटिल ने कहा कि गुवाहाटी में फिलहाल बाढ़ की परिस्थिति है. ऐसे में वहां की सरकार लोगों की मदद करना छोड़कर विधायकों की आवभगत कर रही है.

Tags: CM Uddhav Thackeray, Maharashtra, NCP, NCP chief Sharad Pawar, Shiv sena

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments