Saturday, July 2, 2022
HomeदेशMaharashtra political crisis: टीएमसी ने दिखाई शिवसेना से एकजुटता, गुवाहाटी के होटल...

Maharashtra political crisis: टीएमसी ने दिखाई शिवसेना से एकजुटता, गुवाहाटी के होटल के बाहर किया प्रदर्शन

गुवाहाटी. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राष्ट्रपति के चुनाव में विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार को लेकर पूरे देश में विपक्ष की एकता के लिए लगातार कोशिश कर रही हैं. इसी कड़ी में महाराष्ट्र के राजनीतिक संकट में शिवसेना का समर्थन करने के लिए टीएमसी की असम इकाई के कार्यकर्ताओं ने गुवाहाटी में रैडिसन ब्लू होटल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जहां शिवसेना के एकनाथ शिंदे सहित महाराष्ट्र के बागी विधायक ठहरे हुए हैं. होटल के बाहर धरने की अगुवाई टीएमसी के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने की.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार गुवाहाटी में रैडिसन ब्लू होटल के बाहर प्रदर्शन कर रहे टीएमसी नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस हिरासत में ले रही है. टीएमसी के एक कार्यकर्ता ने कहा कि असम में लगभग 50 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं. लेकिन असम के सीएम महाराष्ट्र की सरकार को गिराने में व्यस्त हैं. उधर असम के मंत्री अशोक सिंघल गुवाहाटी के रैडिसन ब्लू होटल पहुंचे हैं, जहां एकनाथ शिंदे सहित महाराष्ट्र के बागी विधायक ठहरे हुए हैं.

गुवाहाटी के रैडिसन ब्लू होटल में डेरा डाले हुए महाराष्ट्र के बागी विधायक पूर्व गृह राज्य मंत्री और शिवसेना नेता दीपक केसरकर से भी मिले. शिवसेना के दो और विधायक सदा सर्वंकर और मंगेश कुडलकर के कल रात मुंबई छोड़ने की सूचना मिली थी. उन्हें भी आज एकनाथ शिंदे के साथ गुवाहाटी में देखा गया. अब गुवाहाटी में रैडिसन ब्लू होटल में एकनाथ शिंदे के साथ महाराष्ट्र के कुल 42 विधायक मौजूद हैं. इसमें शिवसेना के 34 विधायक और 8 निर्दलीय विधायक शामिल हैं.

शिवसेना के विधायकों के बागी होने के मामले पर शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि ‘ईडी के दबाव में पार्टी छोड़ने वाले सच्चे बालासाहेब भक्त नहीं हैं. हम सच्चे बालासाहेब भक्त हैं. ईडी का दबाव भी है लेकिन उद्धव ठाकरे के साथ खड़े रहेंगे.’ संजय राउत ने कहा कि वे शिवसेना किसी खेमे की बात नहीं करेंगे, केवल अपनी पार्टी की बात करेंगे. शिवसेना आज भी मजबूत है. करीब 20 विधायक हमारे संपर्क में हैं. जब वे मुंबई आएंगे तो आपको पता चलेगा कि किन परिस्थितियों में इन विधायकों ने पार्टी का साथ छोड़ दिया.

Maharashtra political crisis: तो क्या अब सब कुछ सदन में फ्लोर टेस्ट से ही तय होगा!

उधर महाराष्ट्र में शिवसेना के विधायकों में फूट के कारण पैदा राजनीतिक संकट से निपटने के लिए राकांपा प्रमुख शरद पवार, डिप्टी सीएम अजीत पवार, राज्य के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल, मंत्री जयंत पाटिल और जितेंद्र अव्हाड और पार्टी नेता सुनील तटकरे एक बैठक कर रहे हैं. ये बैठक एनसीपी प्रमुख के आवास पर हो रही है.

Tags: Maharashtra, Shiv sena, Trinamool congress

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments